कांग्रेस सांसदों ने किया प्रदर्शन, छात्र-पुलिस में झड़प

हैदराबाद, 30 सितंबर. आंध्र प्रदेश में पृथक तेलंगाना राज्य के गठन की मांग को लेकर तेलंगाना क्षेत्र के कांग्रेस सांसदों ने रविवार को राज्य के मुख्यमंत्री एन. किरण कुमार रेड्डी के आवास के बाहर प्रदर्शन किया. इस दौरान भीड़ बेकाबू हो गई तथा हिंसा और आगजनी पर उतर आई. तेलंगाना मार्च में भाग लेने के लिए हैदराबाद आने वाले तेलंगाना समर्थकों की बड़े पैमाने पर गिरफ्तारी के विरोध में क्षेत्र के आठ सांसदों ने उच्च सुरक्षा वाले बेगमपेट क्षेत्र में मुख्यमंत्री के कैम्प ऑफिस तक मार्च किया.

जय तेलंगाना के नारे लगाते हुए सांसद अपने समर्थकों के साथ सड़कों पर बैठ गए. कांग्रेस सांसदों तथा पुलिस अधिकारियों के बीच इस मुद्दे पर बहस भी हुई. प्रदर्शनकारी सांसद मंडा जगन्नाथ ने कहा, मुख्यमंत्री को बाहर आकर गिरफ्तारी रोकनी चाहिए. इसके पहले पृथक तेलंगाना राज्य की मांग को लेकर सैकड़ों तेलंगाना समर्थक कड़ी सुरक्षा के बीच रविवार सुबह नेकलेस रोड पर पहुंचने लगे. तेलंगाना समर्थक रविवार सुबह से ही हैदराबाद के विभिन्न हिस्सों और निकटवर्ती जिलों से हुसैन सागर झील के किनारे पहुंचे, इससे हैदराबाद के कई हिस्सों में तनाव फैल गया. पृथक तेलंगाना राज्य की मांग के प्रमुख केंद्र उस्मानिया विश्वविद्यालय में छात्रों एवं पुलिस के बीच झड़प होने से तनाव व्याप्त हो गया. यहां रैली निकालने की कोशिश कर रहे छात्रों को पुलिस ने रोका जिससे उनकी पुलिस से झड़प हुई. छात्रों ने ‘जय तेलंगानाÓ के नारे लगाए और बैरीकेड्स हटा दिए. इसके अलावा छात्रों ने पुलिसकर्मियों पर पत्थर फेंके. छात्रों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े जबकि परिसर में मौजूद सैकड़ों छात्र रैली निकालने पर अमादा हैं.

तेलंगाना पर मंत्रियों ने दी इस्तीफे की धमकी

हैदराबाद। आंध्र प्रदेश के उपमुख्यमंत्री तथा तेलंगाना क्षेत्र के कई मंत्रियों ने अलग तेलंगाना राज्य के लिए इस्तीफा देने की चेतावनी दी है। तेलंगाना मार्च में भाग लेने के लिए हैदराबाद जा रहे तेलंगाना समर्थकों की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए उपमुख्यमंत्री दामोदर राजनरसिम्हा ने चेताया कि यदि लोगों को नुकसान होता है तो वह इस्तीफा देने में संकोच नहीं करेंगे।

राज्य के मंत्रियों के. जना रेड्डी तथा बी. सरैया ने उप मुख्यमंत्री से मिलकर विभिन्न जिलों में प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी से पैदा हुए हालात पर चर्चा की। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अनुमति देकर पीछे हट गई। जना रेड्डी ने कहा कि मंत्री पद तथा तेलंगाना के बीच किसी एक का चुनाव करने का समय आ गया है। सभी मंत्रियों ने रविवार शाम मिलकर भविष्य में उठाए जाने वाले कदमों की रूपरेखा बनाई है।

Related Posts: