बैंकाक, 10 जून. भारतीय स्टार सायना नेहवाल ने थाईलैंड ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के फाइनल में आज यहां दूसरी सीड स्थानीय खिलाडी रत्चानोक इंथानोन रिपीट रत्चानोक इंथानोन को पहला गेम गंवाने के बावजूद 19-21, 21-15, 21-10 से हराकर सत्र का अपना दूसरा खिताब जीत लिया. इसके साथ ही उन्होंने लंदन ओलंपिक के लिए अपने हौसले बुलंद कर लिए.

शीर्ष वरीय सायना ने पहला गेम कड़े संघर्ष में गंवाने के बाद अगले दोनों गेम आसानी से जीतकर खिताब पर कब्जा कर लिया. सायना का इस सत्र में यह दूसरा खिताब है. इससे पहले उन्होंने मार्च में बेसल में स्विस ओपन का अपना खिताब बरकरार रखा था.पहले गेम में दोनों खिलाडिय़ों के बीच जबर्दस्त संघर्ष देखने को मिला. पांच-पांच के स्कोर तक दोनों बराबरी पर रहीं लेकिन इसके बाद थाई खिलाड़ी ने लगातार दो अंक जुटाते हुए 7-5 की बढ़त बना ली. हालांकि सायना ने भी इसके बाद दो अंक जुटाते हुए स्कोर 7-7 कर दिया.

विश्व की 11वें नंबर की खिलाडी इंथानोन ने फिर लगातार तीन अंक जुटाते हुए स्कोर 10-7 किया और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा. थाई खिलाडी ने एक वक्त 19-12 की बढ़त बना ली थी लेकिन सायना ने लगातार पांच अंक जुटाते हुए इसे 17-19 कर दिया. लेकिन थाई खिलाड़ी ने अंतत: 21-19 से यह गेम जीत लिया. इस गेम में इंथानोन ने सात स्मैश विनर झोंके जबकि सायना केवल एक स्मैश विनर ही लगा सकीं. दूसरे गेम में सायना ने 2-2 के स्कोर पर लगातार तीन अंक बनाने के बाद बढत बनायी और फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा. इंथानोन हालांकि एक वक्त स्कोर को 15-17 तक ले आयीं थी लेकिन सानिया ने फिर लगातार चार अंक जुटाते हुए 1-1 से बराबरी कर ली.

दूसरे गेम में भारतीय खिलाडी ने नेट पर जबर्दस्त प्रदर्शन करते हुए इस गेम में कुल 12 नेट विनर झोंके और थाई खिलाड़ी को केवल तीन नेट विनर ही लगाने दिया. हालांकि दोनों खिलाडिय़ों ने इस गेम में एक समान पांच स्मैश विनर लगाए.निर्णायक गेम में तो सायना ने थाई खिलाड़ी को मुकाबले में कहीं ठहरने का मौका ही नहीं दिया. सायना ने लगातार तीन अंक जुटाकर 3-0 की बढ़त बनायी और फिर इसे 12-4 कर दिया. सायना जब 17-7 की बढ़त पर थीं तो थाई खिलाड़ी ने अपना रैकेट भी बदला लेकिन यह भी उन्हें जीत दिलाने में नाकाम रहा. सायना ने 17-10 की बढ़त बनाने के बाद लगातार चार अंक जुटाते हुए 21-10 से यह गेम जीतकर खुद को खिताब का हकदार बना दिया.

आखिरी गेम में 22 वर्षीय सायना ने दस नेट विनर और नौ क्लीयर विनर झोंके जबकि थाई खिलाड़ी के हिस्से में तीन नेट विनर और दो क्लीयर विनर आए. हालांकि सायना के दो स्मैश विनर की तुलना में उन्होंने पांच स्मैश विनर लगाए. दोनों खिलाडिय़ों के बीच यह चौथा करियर मुकाबला था जिसमें तीन में सायना ने जीत दर्ज की है जबकि एक बार इंथानोन ने. सायना ने इंथानोन को गत वर्ष जापान ओपन और उससे पहले 2009 में मलेशिया ओपन में हराया था जबकि इंथानोन ने सायना को सुदीरमन कप में ग्रुप मैच के दौरान हराया था. इस जीत के साथ ही सायना ने जुलाई.अगस्त में होने वाले लंदन ओलंपिक के लिए अपनी हौसला बुलंद कर दिया है. सायना को खेलों के महाकुंभ में पदक की प्रबल दावेदार माना जा रहा है.

Related Posts: