एक या दो बार वर्षा, या फिर बौछारें पडऩे की संभावना, प्रदेश में सबसे अधिकतम तापमान 44 डिग्री दर्ज

राजधानी में बुधवार की शाम उमस भरी रही

भोपाल, 4 जुलाई, नभासं. राजधानी में बुधवार को सुबह से ही सूरज की तीखी चुभन लोगों ने महसूस की. वहीं दोपहर में धूप की तपिश अधिक बढ़ती रही. इस कारण नागरिकों को तेज गर्मी से कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

इधर शाम 4 बजे आकाश में आंशिक बादल छा जाने से उमस भी काफी बढ़ी. इस तरह से राजधानी में नागरिकों को दिनभर तेज गर्मी एवं उमस का सामना करना पड़ा. मौसम विज्ञानी के मुताबिक विशेष रूप से मौसम में सिस्टम बन चुका है और राजधानी में मानसून प्रवेश कर आगे रतलाम, सागर और सतना तक पहुंच भी गया है.

शहर में सुबह का अधिकतम तापमान 33.7 डिग्री दर्ज किया गया जो कि सामान्य से एक डिग्री अधिक आंका गया. वहीं शाम का न्यूनतम तापमान 24.5 डिग्री रहा जो कि सामान्य से एक डिग्री अधिक रहा. शहर में सुबह की आद्र्रता 90 प्रतिशत रिकार्ड की गई जो कि सामान्य से 13 प्रतिशत अधिक रही. शाम की आद्र्रता 70 प्रतिशत दर्ज की गई. शहर में गुरुवार को न्यूनतम तापमान 25 डिग्री के आसपास रहने की संभवना है. वहीं शहर में आकाश सामान्यत:  आंशिक मेघमय रहेगा. इसके अलावा दिन में एक या दो बार बैछारें या फिर वर्षा गिरने की संभावना है.

इंदौर शहर का अधिकतम तापमान 29.4 डिग्री तथा न्यूनतम तापमान 22.2 डिग्री रिकार्ड किया गया. ग्वालियर शहर का अधिकतम तापमान 43.3 डिग्री एवं न्यूतम तापमान 32. डिग्री दर्ज किया गया. जबलपुर शहर का अधिकतम तापमान 35.1 डिग्री और न्यूनतम तापमान 27.6 डिग्री रहा. इधर प्रदेश में सबसे अधिकतम तापमान 44 डिग्री दतिया, ग्वालियर और शिवपुर कलां में दर्ज किया गया.मौसम विभाग के सहायक वैज्ञानिक के अनुसार प्रदेश में आगामी 24 घंटों के दौरान रीवा, सागर, जबलपुर, शहडोल, भोपाल और होशंगाबाद संभागों के जिलों में बारिश गिरने की संभावना है. वहीं शेष संभागों के जिलों में कहीं-कहीं पर गरज-चमक के साथ बौछारें पडऩे की आशंका है. जहां तक सिस्टम का सवाल है तो मानसून आने के मुताबिक सिस्टम बन चुका है.

साथ ही राजधानी में प्रवेश भी हो गया और आगे की तरफ रतलाम, सागर तथा सतना तक पहुंच भी गया है. इधर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान रायसेन में 4 से.मी., खरगौन में 4 से.मी., कन्नौद में 4 से.मी., उमरिया में 3 से.मी. तथा सागर सहित दमोह, इंदौर, खंडवा में 1 से.मी. वर्षा होना रिकार्ड की गई है.

Related Posts: