जोधपुर, 29 दिसंबर. लापता नर्स भंवरी देवी का सुराग ढूंढने में जुटी सीबीआई लूणी के विधायक मलखान सिंह को पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा के झालामंड स्थित फार्म हाउस पर ले गई।

बताया जाता है कि मलखान ने कबूल किया है कि भंवरी के साथ अक्सर इसी फार्म हाउस पर आते थे और कई बार महिपाल भी साथ होते थे। सीबीआई सूत्रों के अनुसार भंवरी झालामंड के आदर्श नगर स्थित फार्म हाउस पर बेरोकटोक आती थी, चाहे मदेरणा जोधपुर में रहते अथवा जयपुर में। जोधपुर आने पर मदेरणा भी फार्म हाउस चले जाते थे और मलखान भी आते रहते थे। मलखान सिंह और भंवरी, मदेरणा की गैरमौजूदगी में भी फार्म हाउस पर रहते थे। बताया जाता है कि सीबीआई ने इस संबंध में मलखान सिंह से पूछा तो उन्होंने इस बात को स्वीकार कर लिया।

इसके बाद बुधवार को सीबीआई मलखान सिंह को लेकर मदेरणा के फार्म हाउस पर मौका तस्दीक करने गई। सीबीआई वहां कमरों को भी खोल कर देखना चाहती थी, मगर कमरों पर ताले लगे थे। चौकीदार ने बताया कि चाबी लीला मदेरणा के पास है और वे जयपुर में हैं। इस पर सीबीआई मलखान सिंह को लेकर सर्किट हाउस लौट आई। फिर उन्हें कोर्ट में पेश किया, जहां से विधायक को 31 दिसंबर तक सीबीआई के रिमांड पर भेज दिया गया। उधर मलखान सिंह व भंवरी की एक बेटी का ब्लड सैंपल डीएनए जांच के लिए दिल्ली मुख्यालय भेज दिया गया है। इससे पहले सीबीआई मलखान सिंह को बिलाड़ा भी ले गई। वहां भंवरी के बेटे साहिल और ननद पुष्पा को भी बुला रखा था। पहले वे कापरड़ा गए जहां मलखान सिंह और आरोपी सोहनलाल के भाई बाबूलाल की मुलाकात हुई थी। फिर इन तीनों को सर्किट हाउस लाया गया जहां मलखान को साहिल व पुष्पा से आमने-सामने करवा कर मलखान सिंह के भंवरी के संबंधों और विवाद के बारे में पूछताछ की गई। इनके साथ ही जिला परिषद सदस्य पप्पूराम डारा, मदेरणा के चचेरे भाई हरलाल, विशनाराम के रिश्तेदार श्रवण और जगदीश से भी पूछताछ की गई। सीबीआई ने मलखान के तीन बेटों से भी बुधवार को पूछताछ की।

Related Posts: