ऊर्जा संरक्षण पर चित्रकला प्रतियोगिता के पुरस्कारों का वितरण

भोपाल, 15 नवम्बर.   राज्यपाल रामनरेश यादव ने आज यहाँ समन्वय भवन में एन.एच.डी.सी. द्वारा ऊर्जा संरक्षण पर बच्चों की राज्य-स्तरीय चित्रकला प्रतियोगिता में विजयी बच्चों को पुरस्कृत करते हुए कहा कि ऊर्जा संरक्षण के विषय पर बच्चों द्वारा बनाये गये चित्रों में प्रदर्शित सोच से ऊर्जा संरक्षण के राष्ट्रीय अभियान को नई दिशा मिलेगी. इस अवसर पर उन्होंने प्रतियोगिता में प्रथम तीन स्थान हासिल करने वाले छात्रों के साथ-साथ 10 प्रतियोगियों को सांत्वना पुरस्कार और 37 प्रतियोगियों को प्रतिभागिता प्रमाण-पत्र से पुरस्कृत किया.

यादव ने कहा कि आम जन-मानस को ऊर्जा की बचत के लिये प्रेरित करना ही ऊर्जा का उत्पादन है. उन्होंने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं और बिजली आने वाले समय की सबसे बड़ी माँग है. इस दृष्टि से ऊर्जा संरक्षण के कार्य को बच्चों की सृजनात्मकता के साथ जोडऩा एक महत्वपूर्ण पहल है. स्कूली बच्चों ने अपने चित्रों में बिजली की बचत को जिस तरह से उभारा है, वह निश्चित रूप से जन-सामान्य को प्रेरित करेगा. कार्यक्रम में राज्यपाल का शाल-श्रीफल और स्मृति-चिन्ह भेंट कर अभिनंदन किया गया. भारत सरकार के ऊर्जा संरक्षण राष्ट्रीय अभियान-2011 के तहत आयोजित इस राज्य-स्तरीय चित्रकला प्रतियोगिता में प्रदेश के 212 स्कूलों के 37 हजार 180 बच्चों ने भाग लिया था, जिसमें अंतिम रूप से 50 प्रतिभागियों के चित्र पुरस्कार के लिये चुने गये हैं. प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार जबलपुर के परमीत सिंह छावड़ा, महू, इंदौर के अमित जोशी को द्वितीय और हजैफा जफर को तृतीय पुरस्कार दिया गया है.

इन तीनों प्रतिभागियों को 12 दिसम्बर, 2011 को दिल्ली में होने वाली राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिये भेजा जायेगा. राज्य स्तर पर प्रथम पुरस्कार विजेता को 10 हजार, द्वितीय पुरस्कार विजेता को 8 हजार और तृतीय पुरस्कार विजेता को 5 हजार रुपये की नगद राशि बतौर पुरस्कार दी गई है. राष्ट्रीय स्तर पर विजयी प्रतिभागियों को प्रधानमंत्री 14 दिसम्बर, 2011 को पुरस्कृत करेंगे. कार्यक्रम में प्रतियोगिता के ज्यूरी मेम्बर संचालक लोक शिक्षण सभाजीत सिंह यादव, संयुक्त संचालक लोक शिक्षण कौशल किशोर पाण्डे और अर्चना मुखर्जी व्याख्याता कमला नेहरू शासकीय उ.मा.वि. भोपाल को भी पुरस्कृत किया गया. पूर्व में यादव ने दीप जलाकर समारोह का शुभारंभ किया. एन.एच.डी.सी. और एन.एच.पी.सी. के अध्यक्ष ए.बी.एल. श्रीवास्तव ने स्वागत भाषण देते हुए ऊर्जा के क्षेत्र में दोनों संस्थानों द्वारा हासिल की गई उपलब्धियों का ब्यौरा भी दिया.श्रीवास्तव ने कहा कि इन संस्थाओं ने मूल दायित्वों के निर्वहन के साथ-साथ अपने सामाजिक दायित्वों के प्रति भी पूरी प्रतिबद्धता के साथ न्याय किया है. एन.एच.डी.सी. के मुख्य कार्यपालक निदेशक के.एम. सिंह, निदेशक आर.के. तनेजा और महाप्रबंधक श्री सुनील बहल भी उपस्थित थे.

Related Posts: