सभी जिलों व ब्लॉक स्तर पर करेंगे जनता जर्नादन को जाग्रत

भोपाल, 13 सितंबर, प्रदेश की जनता राज्य शासन एवं प्रशासन से पूरी तरह से त्रस्त हो चुकी है. वहीं भाजपा के नेता सहित मंत्री भ्रष्टïचार में लिप्त हो रहे हैं. इधर प्रदेश के सभी जिलों और गांवों की सड़कों की दुर्दशा बद से बदतर हो गई है. इसलिये प्रदेश कांग्रेस 19 सितंबर को पूरे प्रदेश के सभी जिलों में ब्लॉक स्तर पर आंदोलन करेगी.

यह बात मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही. उन्होंने बताया कि राज्य हाईवेज की सड़कें बेहद खराब हो चुकी हैं. उक्त सड़कों के निर्माण में जिम्मेदार अधिकारियों और ठेकेदारों के खिलाफ भ्रष्टïाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्यवाही की जानी चाहिये.

उन्होंने कहा कि भाजपा शासन के करीब 8 वर्ष पूरे हो गये हैं किन्तु अपने घोषणा पत्र में किये गये वादे पूरे नहीं किये हैं कि 90 दिनों में बिजली की समुचित आपूर्ति, प्रदेश की सभी सड़कों की दुर्दशा में सुधार लाना, किसानों को बिजली, पानी व खाद की व्यवस्था के अलावा किसानों का 50 हजार रुपये ऋण माफी की बात पूरी नहीं की है. अनुसूचित जाति वर्ग एवं पिछड़े वर्गों के गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वालों को स्वयं के मकान हेतु प्लाट आवंटन, शासकीय अस्पताल में दवाई और डॉक्टरों की कमी दूर करना. 1 लाख बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराना आदि वादे पूरे नहीं किये हैं.

प्रदेश में कानून-व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है. इसलिये प्रदेश कांग्रेस कमेटी आम जनता में जाग्रति लाने एवं उनका विश्वास जीतने के लिये भाजपा शासन की कार्यशैली का विरोध करने हेतु 19 सितंबर को प्रदेश के सभी जिलों में ब्लॉक स्तर तक एक दिन का धरना प्रदर्शन और आंदोलन करेगी.

इस आंदोलन का नेतृत्व करने का दायित्व भोपाल में सुरेश पचौरी पूर्व कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष, इन्दौर में अ.भा. कांग्रेस कमेटी महासचिव दिग्विजय सिंह, रीवा में नेता प्रतिपक्ष विधानसभा अजयसिंह, सागर में अ.भा. कांग्रेस कमेटी सचिव अरुण यादव, होशंगाबाद में अ.भा. कांग्रेस कमेटी सचिव विजयलक्ष्मी साधौ, ग्वालियर में अ.भा. कांग्रेस कमेटी सचिव पंकज शर्मा, उज्जैन में प्रेमचंद गुड्डू सांसद, शहडोल में सांसद राजेश नंदिनी सिंह और चंबल में प्रदेश किसान कांग्रेस अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह राणा को सौंपा गया है.
उक्त धरना प्रदर्शन और आंदोलन के बाद राज्यपाल के नाम ज्ञापन कलेक्टर एवं स्थानीय एसडीओ को सौंपा जायेगा. भूरिया ने भाजपा द्वारा आयोजित विकास यात्रा को नौटंकी नाटक बताया. इस यात्रा में साढ़े सात करोड़ रुपये का फिजुल खर्चा होगा. जबकि उक्त राशि का उपयोग कर विकास कार्यों को अंजाम दिया जा सकता है.

किसानों की समस्याओं को लेकर धरना
इधर भाजपा सरकार द्वारा किसानों को खाद-बीज मुहैया न कराने एवं नकली दवाईयां सप्लाई को लेकर मंगलवार को किसान कांग्रेस द्वारा प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के बाहर धरना दिया गया. साथ ही किसानों की समस्याओं के समाधान हेतु राजभवन में एक प्रतिनिधि मंडल राज्यपाल से मिला और एक ज्ञापन भी सौंपा.

Related Posts:

मृतकों के परिजनों से भेंट कर किया शोक व्यक्त
चहेतों को फायदा पहुंचाने बन रही है पुन: सौर ऊर्जा नीति: भूरिया
प्रथम 20 शहर में भोपाल के शामिल होने की पूरी संभावना-पर्यवेक्षक
70 घंटे बाद अपहरणकर्ता ने किया सरेंडर
शिव मंदिर मार्ग पर अतिक्रमण का साया, संकरी हुई सड़क
कचरा ट्रांसफर स्टेशनों का कार्य शीघ्रता से पूर्ण किया जाए