होशंगाबाद, 15 दिसम्बर नससे. सिक्युरिटी पेपर मिल में 488 करोड रूपये की लागत से नई करेंसी पेपर मशीन लगेगी. 17 दिसम्बर को कारखाने में आयोजित एक कार्यक्रम में केन्द्रीय वित्त मंत्री प्रवण मुखर्जी इस मशीन की स्थापना हेतु शिलान्यास करेगें.

प्राप्त जानकारी के अनुसार नई मशीन के स्थापित होने से करेंसी पेपर की उत्पादन क्षमता चार हजार मेट्रिक टन से बढ़कर दस हजार मेट्रिक टन प्रतिवर्ष हो जावेगी. इसके अलावा पुरानी मशीन का नवीनीकरण कार्य भी एक सौ दस करोड़ रूपये की लागत से किया जावेगा. इस मशीन के लगने के बाद अब विदेशों से करेंसी पेपर नही बुलाना पड़ेगा. और देश में जरूरत के हिसाब से करेंसी पेपर की पूर्ति होना संभव हो पायेगा. मशीन के शिलान्यास कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, सांसद राव उदय प्रताप सिंह  प्रदेश के वन मंत्री सरताज सिंह,होशंगाबाद विधायक गिरिजाशंकर शर्मा, सोहागपुर विधायक विजयपाल सिंह, पिपरिया विधायक ठाकुरदास नागवंशी,सहित वित्त मंत्रालय दिल्ली के सीएमडी विशेष रूप से उपस्थित रहेगें. कार्यक्रम की तैयारियां जारी- शनिवार को आयोजित होने वाले इस शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारियां लगभग अंतिम दौर में  हैं दूसरी तरफ सुरक्षा व्यवस्थाएं भी कडी की जा रही हैं.सूत्रों  से प्राप्त जानकारी के अनुसार कार्यक्रम  आयोजन हेतु एसपीएम परिसर स्थित नर्मदा स्टेडियम मे विशाल मंच बनाया गया हैं बैठक व्यवस्थाओं हेतु माकूल इंतजाम किये जा रहे हैं विशेष लोगों की जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा व्यवस्थाएं मैदान पर रहेगी. नई मशीन 2014 से उत्पादन देना प्रारंभ करेगी- सिक्युरिटी पेपर मिल में 488 करोड रूपये की लागत से लगने वाली नई मशीन 2014 से उत्पादन देना शुरू कर देगी नई मशीन से लगभग छह हजार मेट्रिक टन कागज का प्रतिवर्ष उत्पादन होगा. ज्ञात रहे कि देश को प्रतिवर्ष 15 हजार मेट्रिक टन करेंसी पेपर की आवश्यकता होती हैं देश का एकमात्र करेंसी पेपर बनाने वाला कारखाना हैं. पुरानी मशीन का नवीनीकरण हाने से भी उत्पादन क्षमता में वृद्घि होगी.

Related Posts:

गरीबों के साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं
लोपैथिक की तर्ज पर हो होम्योपैथिक दवाईयों की बिक्री
ऊर्जा क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर मंत्री शुक्ल सम्मानित
लेन-देन पर कर्मचारियों में हुई जूतम-पैजार
महिला सुरक्षा को लेकर मध्यप्रदेश विधानसभा में कांग्रेस का हंगामा, कार्यवाही दिन ...
संक्रांति पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी