सुखा निपानियां गाँव पहुँची डाक्टरों की टीम

बैरागढ़, 14 नवंबर,नभास. राजधानी से लगे विकास खण्ड फंदा के ग्राम पंचायत सुखा निपानियां में पिछले 5 दिनों से डाक्टरों की टीम गाँवों का विजिट कर रही है जहाँ चिकनगुनियां के कितने मरीज गाँव में है.

हालांकि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी एस.के. गौशाल ने चिकनगुनिया के मरीजों की पुष्टि से इंकार किया है और कहा कि तीन लोगों के ब्लड सेम्पल ले गए है. उसकी रिपोर्ट आने के बाद ही तय हो पाएगा कि चिकन गुनियां के ही मरीज हैं या अन्य किसी बीमारी के. फिलहाल डाक्टरों की टीम प्रति दिन गाँव पहुँच रही है जहाँ पीडि़तों का उपचार कर उन्हें दवाइयां भी दी जा रही है. जिला स्वास्थ्य अधिकारी का कार्य देख रही किरण शेजवार ने डाक्टरों को निर्देशित कर गाँवों में बीमार मरीजों का उपचार करने के निर्देश दिए थे. उधर जिला पंचायत सदस्य ममता मीना ने जिला पंचायत की बैठक के एक दिन पूर्व ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को इसकी शिकायत की थी कि उनके क्षेत्र के ग्राम सुखा निपानियां में लोग चिकनगुनिया से बीमार हो गए है. जैसे ही जन प्रतिनिधि ने स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठï अधिकारियों को जानकारी दी थी उसी तरह डाक्टरों की टीम गाँव में पहुँच गई थी और गाँव में बीमार लोगों का उपचार किया गया. गांधी नगर स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी एस.के. कौषल ने बताया कि जिन तीन लोगों के ब्लड सेम्पल लिए गए हैं उन्हें प्रयोगशाला में भेजा गया है उसकी रिपोर्ट आने के बाद ही इस बात का पता चलेगा कि आखिर ग्रामीण चिकन गुनिया के शिकार हैं या किसी अन्य बीमारी के जो लोग बीमार है उन्हें हाथ पैरों में दर्द के साथ बुखार भी आ रहा है यहाँ अब स्थिति सामान्य हैं.

विद्यार्थी शाकाहार भोजन ही करें-सिद्घभाऊ

संत हिरदाराम नगर परम हंस संत शिरोमणि साहिब के आशीर्वाद एवं सिद्घभाऊ जी की प्रेरणा से संचालित साधु वासवानी स्कूल में मांसाहार के खिलाफ अभियान का आयोजन किया गया. इस अवसर पर संतजी के उत्तराधिकारी एवं समाजसेवी श्रद्घेय सिद्घभाऊ जी विशेष रूप से उपस्थित हए जहाँ उन्होंने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि विद्यार्थी मांसाहार करने से बचे और शुद्घ शाकाहार भोजन करें. इससे मन और तन दुरुस्त रहता है. उन्होंने विद्यार्थियों को यह भी कहा कि हमें इंसान व जीव जंतुओं पर दया करनी चाहिए. लोग यह समझते हैं कि मांस खाने से शक्ति मिलती है लेकिन उनकी यह धारणा बिल्कुल गलत है. ईश्वर ने जो प्राकृतिक वस्तुएं बनाई है. उन्हीं चीजों को उपयोग करना चाहिए इस मौके पर शिक्षाविद् विष्णु गेहानी ने आए हुए अतिथियों का सम्मान करते हुए कहा कि जिस तरह सिद्घभाऊ जी ने मांसाहार के खिलाफ अभियान छेड़ा है उस अभियान में हम भी संकल्प लें कि हम आज के बाद मांसाहार भोजन नहीं करेंगे. कार्यक्रम में आरोग्य केन्द्र से पधारे डा. गणपत दयारामानी ने भी विद्यार्थियों को संबोधित किया. कार्यक्रम का संचालन भावना कलवानी एवं आभारी विष्णु गेहानी ने माना. इस अवसर पर बड़ïी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे.

Related Posts: