रोम, 26 जून. वह दिन दूर नहीं, जब रोबोट ही आपकी बीमारियों का इलाज कर सकेंगे. इस दिशा में चिकित्सा जगत को एक बड़ी सफलता मिली है. इटली के सिसली द्वीप स्थित एक मेडिकल सेंटर में रोबोट ने लिवर का सफल प्रत्यारोपण किया है. चिकित्सा जगत के इतिहास में दुनिया का यह पहला लिवर प्रत्यारोपण है, जिसे इंसान ने नहीं, बल्कि एक रोबोट ने किया है.

पार्लेमो के आइसमेट ट्रांसप्लांट सेंटर के प्रवक्ता के मुताबिक, लिवर सिरोसिस से पीडि़त अपने 46 वर्षीय बड़े भाई को बचाने के लिए एक इंसान ने अपना लिवर दान दिया. इस इंसान के पेट का ऑपरेशन रोबोट के हाथों ने किया. रोबोट ने ऑपरेशन के लिए पेट में महज पांच छोटे और एक 9 सेंटीमीटर का चीरा लगाया. यह दुनिया का पहला ऐसा मामला है, जिसे पूर्णतया रोबोट ने संपन्न किया. लिवर सिरोसिस एक प्रकार की बीमारी है, जिसमें लिवर के ऊतक तेजी से नष्ट होने लगते हैं और उसमें गांठें बन जाती हैं. यह ज्यादातर शराब के सेवन और हेपेटाइटिस बी और सी की वजह से होता है. इस प्रक्रिया से सड़क दुर्घटनाओं में घायलों के क्षतिग्रस्त लिवर को बदला जा सकेगा. साथ ही सफल प्रत्यारोपण की संख्या में बढ़ोत्तरी हो सकेगी. सेंटर के अनुसार, लिवर प्रत्यारोपण की इस प्रक्रिया को हीपैक्टोमी कहा जाता है. वास्तव में यह प्रत्यारोपण मार्च में किया गया था. मामला खबरों में तब आया, जब नए लिवर को लगवाने वाले मरीज को सकुशल अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. इस पूरी प्रक्रिया में पूरे दस घंटे लगे. सेंटर के मुताबिक, हालांकि इससे पहले भी अमेरिका में रोबोट ने लिवर का प्रत्यारोपण किया था, मगर उसमें डॉक्टरों ने ऑपरेशन के दौरान सिर्फ रोबोट की मदद ली थी. दोनों भाई बिल्कुल स्वस्थ हैं, उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.

Related Posts: