खानूगांव में अवैध रूप से निर्मित

विस्फोटक एवं अन्य संसाधनों के माध्यम से की कार्यवाही

भोपाल, 7 सितंबर. नगर निगम के अमले ने भोजताल के किनारे स्थित खानूगांव में असद इफ्तेखार द्वारा निगम की बिना अनुमति के अवैध रूप से किये जा रहे भवन निर्माण को नियमानुसार नोटिस जारी करने के उपरांत तोडऩे की कार्यवाही की.

नगर निगम एवं जिला प्रशासन की संयुक्त कार्यवाही में निगम के अमले ने खानूगांव के खसरा क्र. 42/1 रियाज मंजिल कैम्पस में असद इफ्तेखार द्वारा लगभग 895 वर्गमीटर क्षेत्रफल में जी+2 भवन का अवैध रूप से निर्माण किया जा रहा था, जो कि तालाब के कैचमेंट एरिया में होने के साथ ही भोजताल के फुल टैंक लेवल से तीस मीटर के अंदर था. जबकि पचास मीटर तक किसी भी प्रकार के भवन के निर्माण की अनुमति निगम द्वारा नहीं दी जा रही है. निगम द्वारा इफ्तेखार असद को नियमानुसार नोटिस प्रदान कर अवैध निर्माण हटाने को कहा गया था, किन्तु उन्होंने उक्त अवैध निर्माण को नहीं हटाया बल्कि उक्त भवन में निरंतर निर्माण कार्य जारी रखा. जिसके फलस्वरूप निगम के अमले ने जिला कलेक्टर निकुंज कुमार श्रीवास्तव के निर्देश पर निगम आयुक्त रजनीश श्रीवास्तव के नेतृत्व में जिला प्रशासन एवं पुलिस बल की मौजूदगी में उक्त अवैध निर्माण को गिराने की कार्यवाही की.

लगभग 895 वर्गमीटर से अधिक क्षेत्रफल में निर्मित उक्त अवैध निर्माण को गिराने हेतु इंदौर के विस्फोटक विशेषज्ञ शरद सरवटे के निर्देशन में भवन के बीम और कॉलम में 416 होल किये गये और उनमें 23 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री का उपयोग कर उक्त भवन को जमींदोज किया.
विस्फोटक लगाने से पहले नगर निगम की जेसीबी मशीन और श्रमिकों के माध्यम से उक्त भवन की दीवारों, छज्जोंं आदि को तोड़ा गया. इसके उपरांत विस्फोटक विशेषज्ञ सरवटे के निर्देशन में उक्त भवन को विस्फोटक के माध्यम से गिराने की कार्यवाही की.

बड़ी झील भोजताल के संरक्षण एवं संवर्धन के लिये विगत दिनों मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान ने नगरीय प्रशासन मंत्री बाबूलाल गौर और मुख्य सचिव आर. परशुराम के साथ तालाब के कैचमेंट एरिया का हेलीकॉप्टर में बैठकर एरियल सर्वे किया था. इस सर्वे में तालाब के किनारे हो रहे अवैध निर्माणों को चिन्हित कर उन्हें हटाने की कार्यवाही निगम एवं जिला प्रशासन द्वारा प्रारंभ की गई है, जो आगे भी निरंतर जारी रहेगी.

zp8497586rq

Related Posts: