कानपुर. फ्लाइट इंस्ट्रक्टर की बेटी ने सूबे के मुखिया अखिलेश यादव से न्याय की गुहार लगाई है. नेहा (काल्पनिक नाम) और सीओ अमरजीत सिंह शाही के हाईप्रोफाइल मामले ने नया मोड़ ले लिया है.

अब तक सीओ को बेकसूर बता रही नेहा ने कहा कि उसका कानपुर पुलिस से भरोसा उठ गया है. पुलिस उसे इंसाफ नहीं देगी, वह उस सीओ का साथ दे रही है जिसने उसका बलात्कार कर एमएमएस बनाया और दो साल तक ब्लैकमेल करता रहा. पीडि़त छात्रा का आरोप है कि सीओ की पत्नी अब भी मुंह बंद न करने पर जान से मरवाने की धमकी दे रही है. उसने बयान दर्ज करने में भी हेर-फेर करने का आरोप लगाया है. पीडि़त छात्रा ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तक अपनी पीड़ा पहुंचाने की बात कही है. उसने कहा, अखिलेश जी अगर मुझे इंसाफ नहीं मिला तो अपने साथ हुए जुल्म का मैं खुद बदला लूंगी.

तुम्हारी और मां-बाप की छवि बिगाड़ दूंगा
छात्रा ने कहा पहली बार सीओ अमरजीत शाही ने चाय में नशीला पदार्थ खिलाकर उसका रेप किया था. उसी दौरान एमएमएस बना लिया था. इसके बाद वह एमएमएस जग जाहिर करने और पिता को झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर उसका यौन शोषण करता रहा. सीओ कहता था मेरी बात नहीं मानोगी तो तुम्हारी और माता-पिता की छवि बिगाड़ दूंगा. छात्रा का आरोप है सीओ मुंह खोलने पर जान से मरवाने की धमकी देता था. धमकाकर डायरी लिखवाता था. छात्रा ने कानपुर पुलिस की भूमिका पर भी असंतोष जताया. उसने कहा मेडिकल कराने से लेकर अदालत ले जाने तक महिला थाना की पुलिस और कोर्ट में बयान दर्ज कराते वक्त साथ में मौजूद पुलिसवाले उसे धमका रहे थे.

क्या है मामला
चकेरी निवासी एयरफोर्स के फ्लाइट इंस्ट्रक्टर की बेटी ने शहर में पहले तैनात रहे सीओ अमरजीत सिंह शाही पर उसका एमएमएस बना कर उसे ब्लैकमेल कर दो साल तक उसका रेप करने का आरोप लगाया है. उसका कहना है कि सीओ की पत्नी मुंह बंद न करने पर जान से मरवाने की धमकी दे रही है. छात्रा ने न्याय के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से गुहार लगाने की बात कही है.

Related Posts: