एसी फस्र्ट और सेकेंड टियर में बढ़ोतरी यथावत्

नयी दिल्ली, 22 मार्च, नससे. काफी जदोजहद के बाद रेल मंत्री मुकुल रॉय ने रेल बजट पर आज लोकसभा में जवाब देते हुए सेकेंड, स्लीपर और एसी थ्री टियर में किराया बढ़ाने का प्रस्ताव वापस ले लिया.

गौरतलब है कि पूर्व रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने रेल की सभी श्रेणियों में किराया बढ़ाने का प्रस्ताव रेल बजट में पेश किया था. त्रिवेदी ने सेकेंड क्लास में 2-3 पैसे प्रति किलोमीटर, स्लीपर में 5 पैसे प्रति किलोमीटर और एसी थ्री टियर में 10 पैसे प्रति किलोमीटर बढ़ोतरी का प्रस्ताव पेश किया था. मुकुल रॉय ने लोकसभा में दिए बयान में कहा एसी फर्स्ट और सेकेंड टियर में बढ़ोतरी वापस नहीं ली गई है. एसी फर्स्ट में 30 पैसे प्रति किलोमीटर और एसी सेकेंड में 15 पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी कायम रहेगी.  रॉय ने अन्य श्रेणियों में किराए में वापसी को आम आदमी के हित में बताया. उन्होंने कहा कि रेलवे को सुरक्षित और कम खर्चे में चलाना अहम है. रॉय ने गुरुवार को लोकसभा में कहा, सभी सांसदों की मांगों को   पूरा करने की कोशिश करूंगा.

नई ट्रेन के लिए कई सांसदों ने निवेदन किया है. बिना गार्ड के रेल फाटक हमारे लिए चिंता का विषय है. सुरक्षा मानकों को पूरा करने के लिए भर्ती करेंगे. ट्रेन और रेलवे प्लेटफॉर्म पर साफ-सफाई मेरी प्राथमिकता है. ट्रेन में दिए जाने वाले खाने की गुणवत्ता सुधारने का भी काम किया जाएगा. नए रेल मंत्री ने रेलवे बोर्ड के विस्तार की योजना पर भी रोक लगा दी है.

मुकुल राय राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित

रेल मंत्री मुकुल राय गुरुवार को राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हो गए। अधिकारिक सूत्रों के हवाले से खबर है कि उनके अलावे चार अन्य को आज पश्चिम बंगाल से राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया है।

मौका मिला तो फिर ऐसा ही बजट पेश करूंगा: त्रिवेदी

नई दिल्ली. रेल किराया बढ़ाने के बाद कुर्सी गंवा चुके दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि अगर उन्हें फिर से मौका मिला तो वे ऐसा ही बजट पेश करेंगे।

रेल मंत्री मुकुल राय के बढ़े रेल किराए वापस लेने पर प्रतिक्रिया देते हुए त्रिवेदी ने कहा कि मुझे अगर फिर से मौका मिला तो मैं 14 मार्च को पेश किए गए बजट जैसा ही बजट पेश करूंगा। राय ने फर्स्ट एसी और एसी-2 को छोड़कर अन्य दर्जों के लिए रेल बजट में बढ़ाए गए किरायों को वापस लेने की घोषणा की है। नए रेल मंत्री मुकुल राय ने रेल बजट पर लोकसभा में हुई दो दिन की चर्चा का उत्तर देते हुए घोषणा की कि पहले से ही महंगाई से त्रस्त आम आदमी और मध्यम वर्ग पर अतिरिक्त बोझ नही डालने के लिए वह रेल किराए में दो, तीन और पांच पैसे प्रति किलोमीटर की वृद्धि के प्रस्ताव को वापस ले रहे हैं। मालूम हो कि किराया बढ़ाने पर त्रिवेदी की पार्टी तृणमूल उनसे नाराज हो गई थी। कई दिनों तक चली उठापटक के बाद दिनेश त्रिवेदी को इस्तीफा देना पड़ा। जिसके बाद मुकुल राय को रेल मंत्री बनाया गया।

Related Posts: