उज्जैन, 5 दिसंबर. गुरुवार सुबह दिल्ली से नागदा पहुंची हजरत निजामुद्दीन-इंदौर (इंटरसिटी एक्सप्रेस) यहां से चलकर कुछ दूरी पर पहुंची और ट्रेन व इंजिन के मध्य कपलिंग अलग हो जाने के बाद इंजिन टे्रन छोड़कर सरपट दौड़ पड़ा. ड्रायवर ने सजगता दिखाते हुए इंजिन रोका और वापस ट्रेन के पास लाकर कपलिंग जोड़ दी.
इस आपाधापी के बीच टे्रन में सवार यात्री बुरी तरह दहल गए. उत्तर भारत में कड़़ाके ठंड के बाद कोहरा छा रहा है, जिसके चलते दिल्ली से पश्चिमी भारत आ रही टे्रनें निर्धारित समय से देरी से चल रही हैं. दो दिन से देरी से नागदा पहुंच रही हजरत निजामुद्दीन-इंदौर (इंटरसिटी एक्सप्रेस) निर्धारित समय से देरी पर नागदा पहुंची. यहां ट्रेन के बदलने के दौरान इंजिन व ट्रेन के मध्य ठीक से कपलिंग नहीं जुड़ पाई. सुबह 10.30 बजे के दरमियान ट्रेन स्टेशन से चलकर उज्जैन फाटक से आगे निकली थी कि उज्जैन फाटक के आगे इंजिन ट्रेन से छूटकर आगे जा निकला. इंटरसिटी के ड्रायवर मो. रफीक ने सूझबूझ दिखाते हुए इंजिन रोका और पुन: टे्रेन की तरफ लेकर आया. यात्रियों में इस घटना से दहशत फैल गई.  मगर पुन: जब इंजिन ट्रेन के नजदीक पाया तो उनके होश में होश आया. उज्जैन फाटक के समीप ये हादसा हुआ, जिसे गेटमेन अपनी आंखों से देख रहा था.  ट्रेन छोड़कर आगे जा रहे इंजिन को देख गेटमेन ने लाल झंडी दिखाई, जिसे देख ड्रायवर ने इंजिन रोक लिया. पता चला इंजिन से ट्रेन अलग खड़ी रह गई थी. ताबड़तोड़ इंजिन पुन: ट्रेन के समीप ले जाया गया.तकनीकी गड़बड़ी के चलते निजामुद्दीन एक्सप्रेस का इंजिन ट्रेन से अलग हो गया था. इससे कोई जनहानि या रेलवे को नुकसान नहीं पहुंचा है.

Related Posts: