भोपाल, 10 जून, नभासं.  आईएएस अफसरों को तनाव से मुक्ति दिलाने के लिए केंद्र सरकार स्ट्रेस मैनेजमेंट प्रोग्राम तैयार कर रही है.मिड कॅरियर ट्रेनिंग की तरह यह कार्यक्रम भी इन अफसरों के लिए अनिवार्य होगा.

हाल ही में संसद की एक स्थाई समिति ने तनाव प्रबंधन पर एक अलग से पाठ्यक्रम शुरू करने की सिफारिश की थी.केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण मंत्रालय इस पर गंभीरता से विचार कर रहा है.अफसरों के मुताबिक इस योजना पर काफी काम किया जा चुका है.आईएएस अफसरों के शीर्ष प्रशिक्षण संस्थान लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन (एलबीएसएनएए) मसूरी के प्रबंधन से भी इस पाठ्यक्रम पर चर्चा की जा रही है. मंत्रालय एकेडमी में प्रोबेशन पर आने वाले सभी अखिल भारतीय सेवाओं के अधिकारियों के लिए स्ट्रेस मैनेजमेंट कोर्स अनिवार्य करने की तैयारी कर रहा है.यह मिडिल और सीनियर लेवल के अधिकारियों के लिए भी फायदेमंद होगा क्योंकि उन्हें ज्यादा जिम्मेदारियों और तनाव का सामना करना पड़ता है.

क्या कहा संसदीय समिति ने:- संसदीय समिति ने इस बात पर भी जोर दिया है कि मसूरी स्थित एकेडमी में अफसरों को दिए जाने वाले प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में तनाव प्रबंधन को शामिल किया जाए.समिति का मानना है कि एकेडमी अफसरों को तनाव प्रबंधन पर बुनियादी प्रशिक्षण तो देती है, लेकिन इसके लिए अलग से कोई कोर्स नहीं है.इसलिए तनाव प्रबंधन को कोर्स के रूप में शामिल किया जाए.

Related Posts: