रीवा, 12 अक्टूबर. भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी की जन चेतना यात्रा आज मध्य प्रदेश में प्रवेश करेगी. हनुमना में यात्रा का भव्य स्वागत प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष प्रभात झा, प्रदेश संगठन महामंत्री अरविंद मेनन, ऊर्जा मंत्री राजेन्द्र शुक्ल सहित पार्टी के नेता करेंगे. भ्रष्टाचार के खिलाफ लोगों में चेतना पैदा करने के लिये शुरू की गई यह यात्रा प्रदेश के हनुमना में शाम चार बजे प्रवेश करेगी.

जहां पर यात्रा का भव्य स्वागत होगा और इसके बाद यात्रा मऊगंज पहुंचेगी. जहां शाम साढ़े चार बजे रथ सभा को श्री आडवाणी संबोधित करेंगे. तत्पश्चात देवतालाब, मनगवां, रायपुर कर्चुलियान होते हुये यात्रा रीवा नगर में प्रवेश करेगी. जगह-जगह पुष्प वर्षा से स्वागत होगा. शाम लगभग छह बजे टीआरएस ग्राउण्ड के एनसीसी मैदान में विशाल जनसभा को श्री आडवाणी संबोधित करेंगे. सभा के बाद जनचेतना यात्रा सतना के प्रवेश द्वार बेला में पहुंचेगी. रात्रि लगभग आठ बजे सतना के बीटीआई मैदान में विशाल जनसभा को जनचेतना यात्रा के महानायक श्री आडवाणी संबोधित करेंगे. रात्रि विश्राम यही होगा. यात्रा को लेकर रीवा और सतना में पुख्ता सुरक्षा के इंतजाम किये गये है. परिंदा भी पर नहीं मार सकता.

काले धन पर श्वेतपत्र जारी करे सरकार
पटना में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने  केंद्र सरकार से विदेशों में जमा काले धन पर श्वेतपत्र जारी करने की बुधवार को मांग की। उन्होंने कहा कि अगर विदेशों में जमा काला धन वापस आ जाए तो कई समस्याओं का समाधान हो जाएगा।  पड़ोसी देश पाकिस्तान की चर्चा करते हुए कहा कि विभाजन से कुछ हासिल नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि विभाजन से न हिंदुओं का भला हुआ और न ही मुसलमानों का। उन्होंने यह भी कहा कि जयप्रकाश नारायण और राममनोहर लोहिया महान चिंतक और समाजवादी नेता थे। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार, गरीबी और महंगाई के मुद्दों पर केंद्र सरकार गंभीर नहीं है। आज पूरा देश इन समस्याओं से जूझ रहा है परंतु सरकार इस पर गंभीरता नहीं दिखा रही है। आडवाणी ने बिहार की प्रशंसा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा इस यात्रा में भाग लेने के बाद इस यात्रा को मजबूती मिली है, जिसके लिए उन्हें मैं धन्यवाद देता हूं। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार इस यात्रा का स्वागत किया गया है वह उत्साहित करता है। पूर्व उप प्रधानमंत्री ने कहा कि अगले संसद सत्र में विदेशों में जमा काले धन के विषय में केंद्र सरकार श्वेत पत्र जारी करे तथा उन व्यक्तियों के नाम सामने लाए जिन्होंने विदेशों में काला धन जमा कर रखा है।

साथ ही साथ सरकार यह भी बताए कि विदेशों में जमा धन वापस लाने के लिए उसने अब तक क्या कदम उठाए हैं। भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री पद के लिए नाम के विषय में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह प्रश्न इस समय के लिए उचित नहीं हैं, फिर भी किसी भी पद के लिए नाम तय करना पार्टी का काम है और यह पार्टी ही तय करती है। उन्होंने कहा कि यूं भी अभी चुनाव नहीं है, लेकिन चिंता की बात यह है कि चुनाव कभी भी हो सकते हैं। जन चेतना यात्रा के दौरान आडवाणी की बस आज पटना से आरा जाने के रास्ते में कोईलवर पुल के नीचे फंस गई। इससे बस को थोड़ा-बहुत नुकसान पहुंचा है। बस के फंसने के कारण आडवाणी की यात्रा में दो घंटे की विलंब हो गया।

इसके पहले जब बस पटना से सिताबदियारा के लिए जा रही थी तब भी वह फंस गई। उल्लेखनीय है कि आडवाणी आज अपनी यात्रा के दूसरे दिन आरा और बक्सर होते हुए उतर प्रदेश में प्रवेश करेंगे। दूसरी ओर, चंदौली जिले में बुधवार शाम को प्रस्तावित जनसभा को जिला प्रशासन और रेलवे ने मंजूरी देने से इंकार कर दिया है। उधर जनसभा के आयोजक स्थानीय भाजपा नेताओं ने कहा है कि जनसभा पूर्वनिर्धारित स्थल पर होकर रहेगी। उधर, चंदौली के जिलाधिकारी विजय कुमार त्रिपाठी ने का कहना है कि हमने आयोजकों को रेलवे प्रशासन से अनापत्ति प्रमाणपत्र मिलने के बाद ही जनसभा की अनुमति दी थी। अब रेलवे प्रशासन की तरफ से एनओसी न देने के कारण हमने जनसभा की इजाजत देने से इंकार दिया है।

दोहरा झटका
जनचेतना यात्रा पर निकले भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी को दोहरा झटका लगा है। बुधवार को रेलवे ने उन्हें मुगलसराय में सभा करने की इजाजत नहीं दी।  यात्रा के पहले ही दिन उनके दो सहयोगियों की तबियत भी बिगड़ गई थी। छपरा से पटना के दो घंटे के सफर में हाईटेक बस में बैठीं लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष अरुण जेटली की तबियत खराब हो गई। पार्टी प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी ने बताया है कि आडवाणी के रथ में तकनीकी खराबी के कारण किसी गैस का रिसाव हुआ, जिसकी दुर्गंध से इन दोनों की तबीयत खराब हुई थी। उन्होंने बताया कि प्राथमिक इलाज के बाद दोनों स्वस्थ हैं तबियत खराब होने की वजह से सुषमा स्वराज और अरुण जेटली पटना के गांधी मैदान में जनसभा में शिरकत नहीं कर सके थे। हालांकि जेटली आडवाणी के साथ दिखे, लेकिन  सुषमा स्वराज ने ट्विटर पर जानकारी दी कि वह दिल्ली लौट रही हैं।

पुल के नीचे फंसा आडवाणी का रथ
आडवाणी जिस बस पर सवार होकर ‘जन चेतना यात्रा’ कर रहे हैं, वह बुधवार को पटना से आरा जाने के रास्ते में कोईलवर पुल के नीचे फंस गई। इससे बस को थोड़ा-बहुत नुकसान पहुंचा है। सोन नदी पर बने कोईलवर पुल की छत नीची होने की वजह से बस वहां फंस गई। काफी मुश्किलों के बाद बस को वहां से निकाल लिया गया लेकिन उसका ऊपरी हिस्सा कई स्थान से क्षतिग्रस्त हो गया है। बस के फंसने के कारण आडवाणी की यात्रा में दो घंटे की विलम्ब हो गया। जब बस पटना से सिताबदियारा के लिए जा रही थी तभी भी वह फंस गई। गौरतलब है कि पटना से आरा जाने के लिए कोई अन्य मार्ग नहीं है। उल्लेखनीय है कि आडवाणी आज अपनी यात्रा के दूसरे दिन आरा और बक्सर होते हुए उत्तर प्रदेश में प्रवेश करेंगे।

Related Posts: