सऊदी अरब खुफिया एजेंसियों ने लिया था हिरासत में

नई दिल्ली,1 जून. सर्वोच्च न्यायालय ने सऊदी अरब में 13 मई से लापता बिहार के इंजीनियर फसीह मोहम्मद की पत्नी निखत परवीन की याचिका पर केंद्र सरकार को जवाब सौंपने के लिए शुक्रवार को मोहलत दे दी. परवीन ने अपने पति के ठिकाने के बारे में जानने के लिए सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दायर की है.

न्यायमूर्ति के.एस. राधाकृष्णन और न्यायमूर्ति जे.एस. खेहर की पीठ ने मामले को छह जून के लिए सूचीबद्ध करने का निर्देश दिया, क्योंकि वरिष्ठ अधिवक्ता आर.पी. भट्ट ने निखत परवीन की याचिका पर सरकार का जवाब दायर करने के लिए दो दिनों की मोहलत मांगी. भट्ट, केंद्रीय गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय की ओर से अदालत में पेश हुए.  न्यायालय ने भट्ट से कहा कि यह एक महत्वपूर्ण मामला है. हम याचिकाकर्ता (निखत) के पति (फसीह मोहम्मद) के ठिकाने के बारे में जानना चाहते हैं. न्यायालय ने यह बात तब कही, जब भट्ट ने केंद्रीय गृह मंत्री पी. चिदम्बरम द्वारा गुरुवार को आयोजित संवाददाता सम्मेलन के बारे में एक समाचार पत्र में प्रकाशित एक रपट पढऩे की कोशिश की. इसमें चिदम्बरम ने कहा था कि फसीह मोहम्मद के लिए एक रेड कार्नर नोटिस जारी किया गया है.

न्यायालय ने भट्ट से कहा कि अखबार की रपट पढऩे के बदले उन्हें यह बताना चाहिए कि सरकार की ओर से उन्हें क्या निर्देश मिले हैं. ज्ञात हो कि सऊदी अरब में इंजीनियर के रूप में कार्यरत फसीह मोहम्मद को खुफिया एजेंसियों ने 13 मई को सऊदी राज्य के अल जुबाल से कथितरूप से हिरासत में ले लिया था. मोहम्मद (35) बिहार में दरभंगा जिले के बाढ़ सैला गांव के निवासी हैं.

Related Posts: