युवा पीढ़ी वन्यप्राणी संरक्षण के लिये हो जागरूक – सरताज सिंह

भोपाल, 1 अक्टूबर नभासं . वन मंत्री सरताज सिंह ने कहा है युवा पीढ़ी को वन तथा वन्यप्राणी संरक्षण के लिये जागरूक करना जरूरी है. सरताज सिंह शनिवार को वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में वन्यप्राणी सप्ताह 2011 का शुभारंभ कर रहे थे.

इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव वन स्वदीप सिंह, प्रधान मुख्य वन संरक्षक रमेश के. दवे, अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक वन्यप्राणी टी.आर. शर्मा, धर्मेन्द्र शुक्ला, संचालक वन विहार बी.पी.एस. परिहार, अन्य वन अधिकारी तथा बड़ी संख्या में शालाओं के शिक्षक एवं विद्यार्थी उपस्थित थे.
सरताज सिंह ने कहा कि पर्यावरण संतुलन के लिये वन तथा वन्यप्राणियों का संरक्षण आवश्यक है. इस दिशा में वन्यप्राणी सप्ताह के दौरान विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन कर युवा पीढ़ी को जागरूक करने का यह सराहनीय प्रयास है.

वन्यप्राणी सप्ताह के प्रथम दिन आज वन विहार की वीथिका में चित्रकला प्रतियोगिता हुई. इसमें प्रथम वर्ग कक्षा एक से चार तक, दूसरा वर्ग पाँच से आठ, तीसरा वर्ग कक्षा नौ से बारह तक के लिये रखा गया. इसी प्रकार चौथा वर्ग मंद बुद्धि छात्रों तथा पाँचवा वर्ग मूक तथा बघिर छात्रों का तथा छठवाँ वर्ग जन-सामान्य के लिये खुला वर्ग रखा गया. प्रतियोगिता में 47 विभिन्न शैक्षणिक संस्थाओं के 974 विद्यार्थियों ने वन्यप्राणी तथा प्रकृति से जुड़े विषयों पर चित्रकारी की.

कार्यक्रम स्थल पर वन मंत्री तथा अतिथियों ने पेंटिंग बनाकर सप्ताह का सांकेतिक शुभारंभ किया. वन्यप्राणी सप्ताह के आयोजन में मध्यप्रदेश ईको पर्यटन विकास बोर्ड, मध्यप्रदेश जैव-विविधता बोर्ड, विश्व प्रकृति निधि भारत, स्कूल शिक्षा विभाग भी वन विभाग के सहयोगी हैं.

2 अक्टूबर, 2011 के कार्यक्रम
वन्यप्राणी सप्ताह के दूसरे दिन, रविवार 2 अक्टूबर को प्रात: 6.30 बजे पक्षी अवलोकन शिविर आयोजित किया जा रहा है. प्रात: 9 बजे तक विद्यालयों में मध्य क्विज प्रतियोगिता होगी. इसी समय महिलाओं एवं छात्राओं के लिये रंगोली प्रतियोगिता भी आयोजित की है. इसमें रंगोली के लिये टार रोड पर 44 फुट का स्थान उपलब्ध कराया जायेगा. प्रात: 10 बजे फोटोग्राफी कार्यशाला होगी और शामिल प्रतिभागियों को फोटोग्राफी के टिप्स दिये जायेंगे. प्रतिभागियों को वन विहार में ही प्रकृति एवं वन्यप्राणियों की फोटो अपने कैमरा से खींचकर वन विहार में 3 से 4 बजे के बीच वन विहार कार्यालयीन कम्प्यूटर में डाउनलोड कराना होंगे.

Related Posts: