नई दिल्ली, 1 नवंबर. भारत ने एकदिवसीय श्रृंखला में क्लीन स्वीप करके इंग्लैंड से कुछ हद तक बदला चुकता कर दिया है. अब पहली इंडियन ग्रांप्री फार्मूला वन रेस का भी सफल आयोजन हो चुका है. यदि भारतीय खेल प्रेमियों को अभी भी इंतजार है तो उस महाशतक का जिससे सचिन तेंदुलकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक जडऩे वाले पहले बल्लेबाज बन जाएंगे.

तो क्या दिल्ली के दर्शकों को फिर से तेंदुलकर का रिकार्ड शतक देखने का सौभाग्य मिलेगा क्योंकि वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला का पहला मैच फिरोजशाह कोटला मैदान पर छह नवंबर से खेला जाएगा. यह वही मैदान है जहां पर तेंदुलकर ने शतक जड़कर पहले मोहम्मद अजहरूद्दीन और फिर बाद में सुनील गावस्कर को पीछे छोड़ा था. तेंदुलकर ने अब तक टेस्ट मैचों में 51 और एकदिवसीय मैचों में 48 शतक लगाये हैं. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना आखिरी शतक लगभग सात महीने पहले 12 मार्च को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ  नागपुर में लगाया था.

इसके बाद वह चार वनडे और चार टेस्ट मैच की 12 पारियों में उतर चुके हैं लेकिन शतक से महरूम हैं. इस बीच तेंदुलकर इंग्लैंड के खिलाफ  ओवल टेस्ट में शतक के करीब पहुंचे थे लेकिन तब वह 91 रन बनाकर आउट हो गए थे.

Related Posts: