अभिनेत्री विद्या बालन के लिए यह साल बहुत अच्छा रहा. नो वन किल्ड जेसिका से वर्ष का शुभारंभ किया और डर्टी पिक्चर्स से इसका सुखांत हो गया. अभिनेता प्रधान इस इंडस्ट्री में जहां अभिनेत्रियां अमूमन बैकफुट पर रहती हैं वहां विद्या को अदाकारा ब्रिगेड की हीरो कहा जा रहा है. विद्या इस कॉम्प्लिमेंट से खुश हैं लेकिन हीरोइन कहलाने पर उन्हें और ज्यादा खुशी होती है. हमने जाना उनसे कि विद्या में कितना सिल्क है और सिल्क कितनी विद्या जैसी है.

सभी हालिया फिल्मों में आप सेंट्रल कैरेक्टर थीं. क्या आपको लगता है कि इससे फिल्ममेकर्स आपको टाइप्ड फिल्मों के लिए ही एप्रोच करेंगे?
मुझे नहीं लगता कि ऐसा होगा. सेंट्रल कैरेक्टर रहना मेरी नहीं निर्देशक और कहानी की डिमांड थी. मुझे जैसा कहा गया मैंने किया. हालांकि यह सौदा मेरे लिए फायदेमंद रहा लेकिन रोल की लंबाई या फोकस मुझे नहीं रिझाती. मैं किरदार की गहराई से प्रभावित होती हूं.

ग्लैमर वल्र्ड में वजन और फिटनेस बहुत बड़ा इश्यू है. खास तौर पर अभिनेत्रियों के लिए. ऐसे में स्क्रीन पर धड़ल्ले से अपना बढ़ा हुआ वजन दिखाने में कोई झिझक महसूस नहीं हुई?
शुरुआत में मैं पशोपेश में थी. इस प्रोजेक्ट को हरी झंडी देने में भी मैंने काफी वक्त लगाया. मुझे पता था कि यह रिस्की जुआ है लेकिन मैंने खेला और नतीजा आपके सामने है. मुझे मिलन और एकता की क्षमता पर भी भरोसा था. इससे मेरे व्यक्तित्व में भी कई सकारात्मक बदलाव आए हैं. अब तक सेक्स अपील ट्रिम्ड फिगर्स और वेस्टर्न अंदाज से ही जुड़ी हुई थी.

आपने दोनों ही परिपाटियां बदल दीं?
हां यह एक क्रांतिकारी बदलाव है. इसके लिए मैं बहाव की विपरीत दिशा में तैरी. वैसे भारतीय नारी ऐसी ही है. सेक्सी वजनी और सेन्शुअल.

क्या आपको लगता है कि फिल्मों में महिला चरित्र दिन-ब-दिन बोल्ड हो रहे हैं?
मुझे लगता है कि फिल्म इंडस्ट्री ने अब महिलाओं की असल नजर परखी है. अब फिल्मो में नारी उत्पीडऩ नहीं उन्मूलन नजर आ रहा है. फिल्ममेकर्स भी उन्हें फूलकुमारी या वैम्प्स बनाने के बजाए उनके व्यक्तित्व के अन्य रंगों को कैनवास पर उतार रहे हैं.

आगामी प्रोजेक्ट्स के बारे में कुछ बताएं?
अगली फिल्म में मेरा किरदार सिल्क के बिलकुल विपरीत है. इसमें मैं एक प्रेग्नेंट महिला के किरदार में हूं. यह भी नारी चरित्र का एक और रंग है. जल्द ही यह भी आपके सामने आएगा. मैं भी इसे लेकर एक्साइटेड हूं.

सिद्धार्थ कपूर और आप रिलेशनशिप में हैं. शादी की कोई योजनाएं हैं?
शादी के बारे में अब तक कुछ भी तय नहीं हुआ है. फिलहाल तो मैं अपनी आजादी एंजॉय कर रही हूं.

डर्टी पिक्चर्स के बाद आपको विद्या बालन खान का टैग दिया गया है. सिद्धार्थ का इस पर क्या रिएक्शन है?
वे हंसते हुए कहती हैं मुझे यकीन है कि उन्हें मेरे नाम के साथ कपूर ज्यादा अच्छा लगेगा. जहां तक मेरा सवाल है तो मैं अपने आप से खुश हूं और विद्या बालन ही बने रहना चाहती हूं.

Related Posts: