वॉशिंगटन, 25 जुलाई. क्रिकेट भले ही समझ में नहीं आता हो लेकिन, अमेरिका भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट कूटनीति का समर्थक है.

अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्ता विक्टोरिया एन. ने कहा, हम क्रिकेट समझते नहीं लेकिन क्रिकेट कूटनीति पसंद है. उनसे भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट संबंधों की बहाली के बारे में सवाल पूछा गया था. उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच बेहतर संबंध का अमेरिका पक्षधर है. हम भारत और पाकिस्तान के कूटनीतिक स्तर पर हर प्रयास के समर्थक रहे हैं. उन्होंने आर्थिक क्षेत्र में काफी प्रगति की है. हम उन्हें आतंकवाद विरोधी सूचना बांटने, दोनों देशों के खतरों से निपटने, सियासी मसलों पर आगे बढऩे के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं. दोनों देशों के बीच किसी भी स्तर पर बातचीत के हम समर्थक रहेंगे लेकिन इस पर काम दोनों देशों को करना है.

भारत को एफ-22 लड़ाकू विमान बेचने से पेंटागन का इंकार

वाशिंगटन, 25 जुलाई. पेंटागन ने कहा है कि उसे भारत को एफ-22 लड़ाकू विमानों की किसी संभावित बिक्री की जानकारी नहीं है.

पेंटागन के प्रेस सचिव जार्ज लिटिल ने बताया, ‘मुझे भारत को एफ-22 की संभावित बिक्री के बारे में जानकारी नहीं है. अगर मुझे कोई जानकारी मिलेगी तो मैं आपको बता दूंगा.’ एक सीट वाले एफ-22 रैपटर में दो इंजन हैं और युद्धक तकनीक आधारित यह विमान पांचवीं पीढ़ी का लड़ाकू विमान है. एफ-22 को हवा में मार करने वाले श्रेष्ठ लड़ाकू विमान के तौर पर बनाया गया था लेकिन इसकी अतिरिक्त क्षमता जमीन पर हमला करने, इलेक्ट्रानिक युद्ध और खुफिया संकेतों में भी है. जापान और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों के एफ-22 में दिलचस्पी दिखाए जाने के बावजूद अमेरिकी संघीय कानून द्वारा इसका निर्यात वर्जित है.

Related Posts: