मुंबई. एक्सपायरी के दिन मुनाफावसूली की वजह से बाजार पर दबाव आया। सेंसेक्स 53 अंक गिरकर 18579 और निफ्टी 14 अंक गिरकर 5649 पर बंद हुए। हालांकि, छोटे और मझौले शेयरों में हल्की तेजी रही। ऑयल एंड गैस, आईटी, तकनीकी शेयर 1.5-1 फीसदी लुढ़के। मेटल, पीएसयू, ऑटो और पावर शेयरों में 0.5-0.2 फीसदी की गिरावट आई।

एफएमसीजी, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, कैपिटल गुड्स शेयर 1.5-1 फीसदी चढ़े। रियल्टी और हेल्थकेयर शेयरों में 0.4-0.2 फीसदी की तेजी आई। बैंक शेयर सुस्त रहे। बाजार की चाल- एक्सपायरी के दिन की शुरुआत बाजारों ने तेजी के साथ की। मजबूत एशियाई संकेतों की वजह से बाजार बढ़त पर खुले। निफ्टी 5650 के अहम स्तर के ऊपर बना रहा। दिग्गजों के मुकाबले छोटे और मझौले शेयरों में ज्यादा तेजी नजर आई। कैपिटल गुड्स, ऑटो और पावर शेयरों में आई जोरदार तेजी ने बाजार में जोश भरा। सेंसेक्स ने 100 अंक की छलांग लगाई और निफ्टी भी 5700 के बेहद करीब पहुंचा। मिडकैप शेयर करीब 1 फीसदी उछले।

मुनाफावसूली की वजह से बाजार ऊपरी स्तरों से फिसले दिखे। लेकिन, मजबूत यूरोपीय संकेत और रुपये के 53.25 के स्तर तक चढऩे से बाजार में खरीदारी बढ़ती नजर आई। हालांकि, दोपहर 1 बजे के बाद बाजार पर बिकवाली हावी होती नजर आई। एक्सपायरी के पहले आई मुनाफावसूली और प्रेसेंडिशल रेफेरेंस पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के पहले बाजार घबराए। सेंसेक्स और निफ्टी लाल निशान में फिसले।

क्या गिरा, क्या चढ़ा-प्राकृतिक संसाधनों के बंटवारे पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले माइनिंग और ऑयल एक्सप्लोरेशन कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट आई। हालांकि, फैसले के बाद ऑयल एक्सप्लोरेशन शेयरों की गिरावट कम हुई। माइनिंग शेयरों में सेल, सेसा गोवा और स्टरलाइट इंडस्ट्रीज 4-3 फीसदी टूटे। निफ्टी से बाहर होने की वजह से भी सेल और स्टरलाइट इंडस्ट्रीज पर दबाव दिखा।

ऑयल एक्सप्लोरेशन कंपनियों में ओएनजीसी, केर्न इंडिया, रिलायंस इंडस्ट्रीज 2.25-1.75 फीसदी की गिरावट आई। टेलिकॉम शेयरों में रिलायंस कम्यूनिकेशंस करीब 1 फीसदी चढ़ा। आइडिया सपाट बंद हुआ। भारती एयरटेल 1 फीसदी गिरा। ब्रोकरेज हाउसेज द्वारा रेटिंग घटाए जाने की वजह से वोल्टास 6 फीसदी टूटा। कर्ज रीस्ट्रक्चरिंग पर बैंकों के साथ बैठक से पहले किंगफिशर एयरलाइंस 8 फीसदी उछला। हिस्सा जल्द बिकने की उम्मीद से यूनाइटेड स्पिरिट्स 20 हफ्तों की ऊंचाई पर पहुंचा। यूबी होल्डिंग्स भी 2 फीसदी मजबूत हुआ। यूरिया की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर जल्द ऐलान होने की उम्मीद से चंबल फर्टिलाइजर और आरसीएफ 5 फीसदी चढ़े। म्यूचुअल फंड कारोबार का 49 फीसदी हिस्सा इंवेस्को को बेचने के बाद रेलिगेयर एंटरप्राइसेज 4 फीसदी तेज हुआ। जेएम फाइनेंशियल ने मैक्स इंडिया में अपनी पूरी 1.99 फीसदी हिस्सेदारी 100 करोड़ रुपये में बेच दी है। मैक्स इंडिया के शेयर 4.5 फीसदी उछले।

अंतर्राष्ट्रीय संकेत
एशियाई बाजारों में शंघाई कंपोजिट 2.5 फीसदी उछला। चीन में लगातार पांचवे महीने कंपनियों का मुनाफा घटने के बाद राहत पैकेज की उम्मीदें बढ़ गई हैं। निक्केई, स्ट्रेट टाइम्स, कॉस्पी 0.4 फीसदी मजबूत हुए। बुधवार की भारी गिरावट के बाद यूरोपीय बाजार मजबूती पर खुले। हालांकि, बाजारों ने शुरुआती तेजी गंवाई है। एफटीएसई डीएएक्स और एफटीएसई 0.4 फीसदी मजबूत हैं। सीएसी 0.75 फीसदी चढ़ा है।

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया तेजी दिखा रहा है। 53.5 के स्तर पर खुलने के बाद रुपया 53.23 पर कारोबार कर रहा है। बाजार में बढ़ते एफआईआई निवेश से रुपये को सहारा मिला है। रुपये में आई मजबूती का असर कमोडिटी बाजार पर नजर आ रहा है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेजी के बावजूद एमसीएक्स पर सोने और चांदी में 0.3 फीसदी गिरावट है। कच्चा में 0.25 फीसदी की तेजी है।

Related Posts: