वाशिंगटन.20 सितंबर. 20 साल से पृथ्वी की परिक्रमा कर रहा एक विशाल उपग्रह जर्जर होकर इस हफ्ते पृथ्वी से टकरा सकता है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने यह चेतावनी दी है.

बड़ी बस के आकार का यह उपग्रह बेकार हो चुका है. ओजोन परत का अध्ययन करने वाले इस उपग्रह को 1991 में अंतरिक्ष यान डिस्कवरी ने अंतरिक्ष में छोड़ा था.
नासा के ताजा विश्लेषण के मुताबिक करीब साढ़े छह टन का अपर एटमॉसफियर रिसर्च सेटेलाइट ख्यूएआरएस, संभवतरू शुक्रवार को पृथ्वी पर गिर सकता है. हालांकि पृथ्वी का वायुमंडल इसे हवा में ही जलाकर राख कर देगा. इस बात की आशंका बहुत कम ख्3200 मौकों में से मात्र एक बार, है कि इसके मलबे से किसी को नुकसान पहुंचे.

विज्ञान पत्रिका लाइव साइंस में प्रकाशित खबर के मुताबिकए श्उपग्रह 23 सितंबर से एक दिन आगे या पीछे भी गिर सकता है. इसके गिरने का कारण सौर गतिविधि में तेजी से हुए बदलाव हैं.

माना जा रहा है निर्जीव उपग्रह के करीब 26 टुकड़े पृथ्वी पर गिर सकते हैं. हालांकि यह अभी निश्चित नहीं है कि उपग्रह के अवशेष कहां पर गिरेंगे. फिर भी नासा का मानना है कि मलबा उत्तरी कनाडा और दक्षिण अमेरिका के अक्षांश के बीच समुद्र में गिर सकता है.

Related Posts: