बसपा के  सातों विधायक रहे मौजूद

भोपाल,10 जुलाई, नभासं. संप्रग समर्थित राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार प्रणव मुखर्जी ने आज कहा कि राष्ट्रपति पद की जिम्मेदारी मिलने पर वह देश के संवौधानिक ढांचे की पूरी तरह से रक्षा करेंगे.

मुखर्जी यहां होटल अशोका लेक व्यू में मध्यप्रदेश के कांग्रेस के सांसदों और विधायकों की बैठक को संबोधित कर रहे थे.मुखर्जी के साथ अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा,महासचिव एवं प्रदेश के प्रभारी बी.के. हरिप्रसाद,सचिव ताराचंद भगौरा,केन्द्रीय मंत्री वी नारायण सामी और पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुरेश पचौरी विशेष विमान से यहां पहुंचे. विमानतल पर मुखर्जी की अगवानी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने की.
मुखर्जी ने प्रदेश के कांग्रेस के सांसदों और विधायको को संबोधित करते हुए कहा कि राष्ट्रपति पद की जिम्मेदारी मिलने पर वह इसे पूरी निष्ठा के साथ निभाने के साथ देश के संवैधानिक ढांचे की रक्षा करेंगे.उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति का पद संवैधानिक पद है इसलिए इस पद का चुनाव राजनीतिक दलों के आधार पर नहीं होता है. इस बात को ध्यान में रखते हुए केन्द्रीय वित्त मंत्री के पद से इस्तीफा दिया है.

मुखर्जी ने कहा कि संप्रग की चेयरमेन एवं कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए संप्रग का उम्मीदवार बनाया है. उन्होने कहा कि संप्रग के सभी घटक दलों सहित राजग के घटक दल जनता दल यूनाईटेड और शिवसेना का भी उनकों समर्थन मिल रहा है. उन्होंने अपने लंबे राजनीतिक जीवन का जिक्र करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी के समय से वे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की कार्यसमिति के सदस्य है. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार में विभिन्न पदों में रहने के दौरान से मध्यप्रदेश से उनका पुराना संबंध है और इस प्रदेश से विशेष लगाव है. उन्होने कांग्रेस सांसदों और विधायकों से राष्ट्रपति पद के चुनाव में समर्थन मांगा.

बैठक में बसपा के सातों विधायक मौजूद थे. बसपा विधायक दल के नेता रामलखन सिंह ने मुखर्जी को

Related Posts: