• कलेक्टर ने वितरित किये प्रमाण पत्र

 

भोपाल, 27 अप्रैल. मुख्यमंत्री घरेलू कामकाजी महिला कल्याण योजना के अन्तर्गत भोपाल में उद्यमिता विकास केन्द्र मध्यप्रदेश (सेडमैप) द्वारा जरी-जरदौजी, आर्टीफिशियल ज्वेलरी निर्माण एवं सिलाई ट्रेड में 400 कामकाजी महिलाओं को कौशल उन्नयन प्रशिक्षण दिया गया.

प्रशिक्षण के समापन रविंद्र भवन में संपन्न हुआ. जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में कलेक्टर निकुंज श्रीवास्तव, सम्मिलित हुए. कार्यक्रम की अध्यक्षता सेडमैप के कार्यकारी संचालक जितेन्द्र तिवारी ने की जबकि डूडा के परियोजना अधिकारी एस.एस. धाकड़े विशेष अतिथि के रूप में आए. कार्यक्रम में प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र, शिष्यावृत्ति एवं प्रशिक्षण के दौरान निर्मित सामग्री को बेचने से हुई आय का वितरण कलेक्टर निकुंज श्रीवास्तव द्वारा किया गया.

उल्लेखनीय है कि प्रशिक्षण के दौरान महिलाओं ने रु. 7.50 लाख की सामग्री का विक्रय किया जिससे उन्हें लगभग रु. 2.25 लाख रुपये की आमदनी हुई. प्रशिक्षण के दौरान ही कामकाजी महिलाओं ने स्वरोजगार संबंधी सामग्री को बनाना सीखा और मार्केटिंग के गुर भी जाने. सेडमेप के प्रशिक्षण को कामकाजी महिलाओं ने तो सराहा ही समापन कार्यक्रम में आए कलेक्टर निकुंज श्रीवास्तव ने भी प्रशंसा की. कार्यक्रम का प्रतिवेदन क्षेत्रीय समन्वयक एम.एच. मेवाती ने किया. कार्यक्रम का संचालन सेडमैप के जिला समन्वयक आर.एस. दुबे ने किया. सेडमैप के कार्यकारी संचालक जितेन्द्र तिवारी ने प्रशिक्षणार्र्थियों द्वारा निर्मित सामग्री की भूरि भूरि प्रशंसा एवं उन्हें सेडमैप से हरसंभव मार्गदर्शन प्रदान किया.

Related Posts: