पाटन, 23 सितंबर.  गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्र की यूपीए सरकार पर युवाओं को रोजगार के बारे में झूठे वादे से छलने का आरोप लगाया है। प्रदेश कांग्रेस के सत्ता में आने पर राज्य के 10 लाख युवाओं को रोजगार देने के वादे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए मोदी ने कहा, हमारी आदत छल करने की नहीं है, इसलिए हम धोखेबाजों को माफ भी नहीं करते हैं।

यहां स्वामी विवेकानंद युवा सम्मेलन को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस युवाओं को इस तरह से क्यों धोखा दे रही है? उनका घोषणापत्र देखिए। हर परिवार से एक व्यक्ति को नौकरी का वादा किया गया है। 2009 में उन्होंने एक करोड़ नौकरियां पैदा करने का वादा किया था। क्या वह वादा पूरा हुआ? मोदी ने कहा कि दिल्ली में बैठी सरकार राज्य के युवाओं को छल रही है और हम यहां औद्योगिक विकास को बढ़ावा दे रहे हैं।

केंद्र सरकार के आंकड़े बताते हैं कि देश में पैदा होने वाली 72 फीसद नौकरियां गुजरात के कारण हैं। इसलिए, दिल्ली से कोई उम्मीद न पालें। पिछले एक दशक के शासनकाल में हमने साढ़े तीन लाख लोगों को नौकरी दी। और एक लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।

अगर कोई युवा अपना काम-धंधा शुरू करना चाहता है तो उसके लिए कर्ज भी मुहैया कराया जा रहा है। ये छोटे फैसले नहीं हैं, लेकिन मैं सिर्फ आपलोगों के विश्वास के दम पर ऐसा कर पाया। केंद्र सरकार द्वारा प्रति परिवार सालाना छह सिलिंडर की सीमा निर्धारित किए जाने की भी मोदी ने आलोचना की।
अगर गुजरात सरकार को पाइपलाइन बिछाने की अनुमति दे दी गई होती तो रसोई गैस पर सब्सिडी में कमी आती और उसकी कीमत भी कम होती। पाइपलाइन बिछाने पर केंद्र सरकार द्वारा दो साल का प्रतिबंध लगाए जाने के खिलाफ राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है।

Related Posts: