दिसंबर 2015 में हुआ था फरार

नवभारत न्यूज मुरैना,

नई साल के जश्र के दौरान 31 दिसंबर 2015 को अंबाह जेल से फरार हुए हत्यारोपी विजय सिंह तोमर को पुलिस ने छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर शहर से गिरफ्तार किया है. आरोपी वहां एक होटल में मैनेजर की नौकरी कर रहा था. उसकी गिरफ्तारी पर पुलिस की ओर से दस हजार रूपये का ईनाम घोषित किया गया था.

गिरफ्तारी का खुलासा एसपी आदित्य प्रताप सिंहने करते हुए देवहंस का पुरा निवासी नरेन्द्र सखवार की हत्या के मामले में विजय सिंह पुत्र मुन्नासिंह तोमर अंबाह जेल में बंद था. 31 दिसंबर को रस्सी के सहारे जेल ब्रेक किए जाने के बाद चंबल नदी पार कर धौलपुर के रास्ते दिल्ली भाग गया था. जहां 6 महीने हलवाई की दुकान में काम किया.

पुलिस को भनक लगी, तभी विजय सिंह वहां से भागकर छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर पहुंच गया. वहां विवेक बघेल नि. दिल्ली के नाम से रहने लगा. कुछ दिनों तक हलवाई का काम करने के बाद अंबिकापुर के महामाया चौक पर स्थित एक होटल में मैनेजर की नौकरी करने लगा. उसने अपने परिजनों को भी वहां बुला लिया था. पड़ताल के दौरान पुलिस को उसके अंबिकापुर में होने की खबर लगी और टीम भेजकर विजय सिंह को दबोच लिया.

गिरफ्तार करने वाली टीम में कोतवाली टीआई योगेन्द्र सिंह जादौन, एसआई रामशरण शर्मा, रामचंद्र शर्मा, आरक्षक अनिल दोहरे, कौशलेन्द्र, कुलदीप दोहरे, रविन्द्र कुमार, दुष्यंत शर्मा, कुलदीप भदौरिया, मंगल सिंह, योगेन्द्र सिंह, राजकुमार, रमेश सिंह की सराहनीय भूमिका रही है.

Related Posts: