हवाई,

अमेरिका के हवाई में ज्वालामुखी विस्फोट से 35 घर तबाह हो गये हैं और कई अन्य इमारतों का भी नुकसान पहुंचा है। ज्वालामुखी के लावे की लपटें 300 फुट की ऊंचाई तक उठ रहीं है।

अाधिकारिक सूत्रों ने कल स्थानीय निवासियों को निर्देश दिया कि वह कुछ समय के लिए अपने घर जा सकतें हैं लेकिन उन्हें चेतावनी मिलते ही अपने घरों को छोड़कर भागना होगा। किलाउआ ज्वालामुखी फटने के कारण वहां से सुरक्षित स्थानों पर ले जाये गये 1700 से अधिक लोगों रविवार और सोमवार को दिन के समय अपने घरों का दौरा करने की अनुमति दी गयी है।

हवाई की सिविल डिफेंस एजेंसी ने अपनी वेबसाइट पर कहा है कि लोग चेतावनी मिलते ही अपने घरों को छोड़कर भागने के तैयार रहें। घातक ज्वालामुखीय गैसों के कारण सोमवार को लानिपुना गार्डन से घर लौटने वाले लोगों को घर वापसी से रोका गया था।

हवाई के अधिकारियों ने बताया कि ज्वालामुखी से 19 किलोमीटर दूर स्थित लीलानी एस्टेट में ज्वालामुखी उगलने के कारण जगह-जगह जमीन फट गई है जिससे विषाक्त गैस और भाप निकल रही है।यहां खतरनाक सल्फर डाइऑक्साइड गैस वातावरण में फैलने के कारण लोगों को वहां से निकाला गया। इस गैस का स्तर बढ़ने पर यह जानलेवा साबित होती है।

एजेंसी ने कहा “लीलानी के निवासियों को हमारी मदद की ज़रूरत है। यह दर्शनीय स्थलों की यात्रा का समय नहीं है। आप इस जगह से दूर रहकर हमारी मदद करेंगे।”

ज्वालामुखी फटने और लावे की लपटें निकलने से अब तक किसी के हताहत की कोई सूचना नहीं है लेकिन सिविल डिफेंस एजेंसी ने कहा इससे 35 घर तबाह हो गये हैं और कई मकानों को नुकसान पहुंचा है।

Related Posts: