पुलिस ने की चपरासियों से पूछताछ

नवभारत न्यूज भोपाल,

सबसे अतिसुरक्षित एरिया कहे जाने वाले चार इमली स्थित वन विभाग के रेस्ट हाउस से लाखों की चोरी का मामला सामने आया है. अज्ञात चोर करीब 10 लाख का माल चुरा ले गए, जिसमें हीरे व सोने चांदी के जेवरात शामिल हैं.

मामला सामने आने के बाद पुलिस हरकत में आई और वहां पर पड़ताल की तो सामने आया कि वहां पर ना तो सीसीटीवी लगे हुए थे और ना ही घटना के संबंध में कोई जानकारी दे पा रहा था. पुलिस ने रेस्ट हाउस में कार्यरत कर्मचारियों व चपरासियों से भी पूछताछ की, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा. पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है.

पुलिस के मुताबिक डॉ. जेएस चित्तौडिय़ा मूलत: चित्तौडग़ढ़ के रहने वाले हैं. वे उत्तर प्रदेश के रिटायर्ड हेल्थ डायरेक्टर हैं. वे यहां सोनागिरी में रहने वाले अपने साले एनके प्रसाद की बेटी की शादी समारोह में सपरिवार शामिल होने के लिए आए हुए थे.

शादी समारोह होटल नूर-उस-सबाह में चल रहा है. वे 22 फरवरी से चार इमली स्थित फॉरेस्ट रेस्ट हाउस के तीन नंबर कमरे में पत्नी के साथ रुके हैं.

उन्होंने पुलिस को बताया कि 24 फरवरी को सुबह पांच बजे कमरे से निकलकर कांफ्रेंस हॉल में बैठ गए, वहीं पत्नी बाथरूम चली गर्इं. दोनों लोग सुबह दस बजे तैयार होकर होटल जाने लगे तब देखा कि बैग में रखा छोटा पर्स गायब था. पर्स में साढ़े नौ लाख रुपए के हीरे और सोने के जेवर थे. पुलिस को उन्होंने यह भी बताया कि वे कमरे को ठीक ढंग से लॉक करके नहीं गए थे.

हबीबगंज टीआई वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि जिस कमरे में चोरी हुई हैं, उस कमरे में पीछे की तरफ लगी खिडक़ी भी टूटी है. डॉक्टर ने चोरी की वारदात सुबह पांच से दस बजे के मध्य बताई है, वहीं उनका चोरी गए मोबाइल का लास्ट लोकेशन दोपहर 12 बजे 1250 चौराहे के पास था, और इसके बाद से मोबाइल बंद हो गया है. टीआई ने कहा कि घटना को लेकर कई लोगों से पूछताछ की गई है, लेकिन अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है.

Related Posts: