नयी दिल्ली,

निजी क्षेत्र के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक आईसीआईसीआई बैंक ने वर्ष 2017-18 की अंतिम तिमाही में 1020 करोड़ रुपये का एकल लाभ अर्जित किया है जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के 2024.60 करोड़ रुपये की तुलना में 49.6 प्रतिशत कम है।

बैंक ने निदेशक मंडल की बैठक के बाद आज यहां जारी बयान में कहा कि इस वर्ष मार्च में समाप्त इस तिमाही में उसके जोखिम में फंसे ऋण में 17 फीसदी की बढोतरी हुयी है और इसके मद्देनजर वर्ष 2020 तक एनपीए को कम करने के उद्देश्य से किये गये प्रावधानों में 85 प्रतिशत की भारी बढोतरी करनी पड़ी है जिससे मुनाफा प्रभावित हुआ है।

उसने कहा कि इस तिमाही में कुल शुद्ध ब्याज आय 6021.67 करोड़ रुपये रही जो पिछले वर्ष मार्च में समाप्त तिमाही में 5962 करोड़ रुपये रही थी। इस वर्ष मार्च में समाप्त तिमाही में बैंक की गैर ब्याज आय 5678.6 करोड़ रुपये रही जो मार्च 17 में समाप्त तिमाही की 3320 करोड़ रुपये की आय की तुलना में 88 प्रतिशत अधिक है।