नयी दिल्ली,

भारतीय विशिष्ठ पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने स्पष्ट किया कि आधार के लिए पंजीयन निशुल्क है लेकिन इसके बाद प्रत्येक अपडेट के लिए 25 रुपये का शुल्क और 18 प्रतिशत वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का भुगतान करना होगा।

यूआईडीएआई ने इस संबंध में ट्विटर पर पूछे गये प्रश्न के उत्तर के कहा कि 12 अंकों वाला आधार नंबर के लिए पंजीयन निशुल्क है लेकिन इसके बाद मोबाइल नंबर और बॉयोमैटिक अपेडट के लिए 25 रुपये का शुल्क और 18 प्रतिशत जीएसटी का भुगतान करना पडेगा।

उसने कहा है कि कोई आधार पंजीयन केन्द्र यदि पंजीयन के लिए शुल्क वसूलता है तो उसका भुगतान नहीं किया जाना चाहिए और उस संबंध में यूआईडीएआई से शिकायत की जानी चाहिए। प्राधिकरण इस तरह की गतिविधियों को कभी स्वीकार नहीं कर सकता है और ऐसे लोगों के साथ कोई नरमी नहीं बरती जायेगी।