मध्यप्रदेश की नयी राज्यपाल श्रीमती आनंदी बने का राज्य में आगमन और स्थापित होने का स्वागत है. आखिरी लंबी प्रतीक्षा के बाद राज्य को स्थाई राज्यपाल मिल गया.

यूपीए सरकार काल में नियुक्त राज्यपाल श्री रामनरेश यादव का कार्यकाल समाप्त होने के समय केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार आ गयी और उन्होंने अभी तक गुजरात के स्थायी राज्यपाल श्री ओमप्रकाश कोहली को ही मध्यप्रदेश के राज्यपाल का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा था.

श्रीमती आनंदी बेन मध्यप्रदेश की दूसरी महिला गवर्नर हैं इससे पहले प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी ने केंद्र में कार्यरत भूतपूर्व आई.ए.एस. अधिकारी श्रीमती सरला ग्रेवाल को मध्यप्रदेश का राज्यपाल 1989 में बनाया था, लेकिन वे यहां अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पायी थीं और बीच में ही उन्हें हटा दिया गया था.

श्री आनंदी बेन गुजरात राज्य में मंत्री थीं और जब मुख्यमंत्री श्री नरेंद्र मोदी केंद्र में प्रधानमंत्री बने थे तो वहां मुख्यमंत्री श्री आनंदी बेन को बनाया गया. लेकिन किन्हीं पार्टी के अंदरुनी राजनीति के कारण उन्होंने बीच में ही पद त्याग कर दिया था. हाल ही में संपन्न हुए गुजरात के विधानसभा चुनावों में भी उन्होंने चुनाव नहीं लड़ा.

वे आज 23 जनवरी को मध्यप्रदेश के राज्यपाल का पद ग्रहण कर रही हैं.

Related Posts: