एनडीआरएफ सेन्टर का हुआ उट्घाटन

नवभारत न्यूज भोपाल,

देशभर में किसी भी प्रकार की आपदा से निपटने और बचाव के लिये एनडीआरएफ का गठन किया गया था. चूंकि एनडीआरएफ की सीमित ब्रांचें होने से कई बार आपदा स्थल तक पहुंचने में एनडीआरएफ को वक्त लगता था.

इस कारण को लेकर सरकार ने एनडीआरएफ के सेन्टर बढ़ाये हैं. इसी कड़ी में मंगलवार को राजधानी के ईदगाह हिल्स पर 11 एनडीआरएफ के रीजनल रिस्पांस सेन्टर का उट्घाटन किया गया.

कलेक्टर सुदाम खाडे, डीआईजी धर्मेन्द्र चौधरी, कमांडेंट कौशलेश राय, एनडीआरएफ एसपी राहुल लोढ़ा और कई अधिकारियों की उपस्थिति में नये भवन में आरआरसी का उद्घाटन किया गया. इस दौरान एनडीआरएफ के रेस्क्यूरेट के द्वारा आपदा के दौरान राहत और बचाव के कार्यों में इस्तेमाल होने वाले उपकरणों के विषय में जानकारी दी गई.

एनडीएफआर के रेस्क्यूरेट राजेश श्याम ने नये उपकरणों के विषय में बताया साथ ही आपदा जैसे बाढ़, भूकंप, केमिकल अटैक आदि जैसे इमरजेंसी के हालात में उपयोग में लाने वाले उपकरणों का प्रदर्शन किया गया. इस दौरान कलेक्टर सुदाम खाडे और डीआईजी धर्मेन्द्र चौधरी ने देश में एनडीआरएफ के द्वारा किये गये राहत कार्यों पर प्रकाश डाला एवं कहा कि शहर को इसकी जरूरत थी.

इस अवसर पर एनडीआरएफ कमांडेंट राय और कम्पनी कमांडर नीरज कुमार ने कहा कि टीम कहीं भी किसी भी आपदा से निपटने के लिये हमेशा तैयार है. गौरतलब हो कि एनडीआरएफ की टीम में देश के पैरा मिलेट्री फोर्सेस के जवान एक परीक्षा के तहत चुने जाते हैं. इस दौरान एडीएम जी.पी. माली, पीडब्ल्यूडी अधिकारी वर्मा, रामेश शर्मा, राजीव राय बीएसएफ के साथ ही अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे.

Related Posts: