नवभारत न्यूज
भोपाल,

साइबर सेल पुलिस ने एक ऐसे युवक को गिरफ्तार किया है, जिसने पर्यटन निगम के नाम की फर्जी वेबसाइट बनाकर पर्यटकों से बुकिंग कर कमीशन हड़प रहा था.

विगत एक साल में युवक ने हनुमंतिया टापू के साथ ही कई होटलों में करीब 1200 पर्यटकों के लिए होटल व आवास बुक कराकर लाखों रुपए कमाए. आरोपी पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है, साथ ही पुणे में एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करता है.

एसपी साइबर सेल शैलेंद्र चौहान ने बताया कि पर्यटन निगम द्वारा 26 अक्टूबर को साइबर थाने में एक शिकायत दर्ज कराई गई थी. शिकायत में बताया गया था कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने फर्जी वेबसाइट बनाई हैं.

हनुमंतिया आइलैंड तथा सैलानी आईलैंड नाम की वेबसाइट को उसने मप्र पर्यटन निगम की ऑफिसियल वेबसाइट के रूप में प्रस्तुत कर रखा है, जिसके जरिए उसने खंडवा में पर्यटन निगम के होटल व आवास भी बुक कराए हैं. आरोपी इतना शातिर है कि दोनों वेबसाइट्स पर किसी भी प्रकार के संपर्क नंबर प्रदान न करते हुए सभी तरह की जानकारी छुपाई गई है.

साइबर क्राइम पुलिस ने तकनीकी अनुसंधान एवं वेबसाइट्स में डोमेन रजिस्ट्रार से जानकारी एकत्रित की तो फर्जी वेबसाइट्स संचालित करने वाले की पहचान खंडवा हरसूद निवासी नरसिंह चौहान के रूप में हुई. युवक पुणे में एक मल्टीनेशनल कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है.

तीस फीसदी तक मिलता था कमीशन

आरोपी द्वारा अपनी वेबसाइट्स को पर्यटन निगम की ऑफिसियल वेबसाइट के रूप में प्रस्तुत कर रखा था. इससे पर्यटकों को गुमराह कर हनुमंतिया टापू एवं सैलानी टापू खण्डवा में मप्र पर्यटन विभाग में बुकिंग हेतु राशि प्राप्त की जा रही थी.

बाद में पर्यटकों के लिये मप्र पर्यटन के क्षेत्रीय मार्केटिंग कार्यालय पूना, इन्दौर एवं नागपुर के माध्यम से पर्यटकों के लिए आवास बुक कर दिए जाते थे. बुकिंग पर आरोपी 10 से 30 फीसद तक कमीशन प्राप्त करता था, जिसकी जानकारी पर्यटकों को नहीं लगती थी.

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि 29 अक्टूबर-16 से 21 नवंबर-17 के बीच आरोपी द्वारा 340 बार लगभग 1200 पर्यटकों के लिए आवास बुकिंग कराया जाकर 38 लाख 31 हजार 792 रुपए का कारोबार किया गया, जिसमें उसने कमीशन के रूप में करीब 10 लाख रुपए का लाभ कमाया.

आरोपी अपनी वेबसाइट्स के नाम पर पर्यटकों को बिल भी थमा देता था. साइबर पुलिस आरोपी से अन्य जानकारी भी जुटा रही है.

Related Posts: