13kk16कोलकाता, 13 फरवरी. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को नहीं लगता कि सीनियर तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा के विश्व कप से बाहर होने के कारण भारतीय गेंदबाजी कमजोर होगी.

गांगुली ने ऑस्ट्रेलिया रवाना होने से पहले कहा,”एक खिलाड़ी से ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा. बाकियों को भी अच्छी गेंदबाजी करनी होगी.ÓÓ ईशांत को बॉक्सिंग डे टेस्ट के दौरान चोट लगी थी और वह पांच मैचों की सीरीज का आखिरी मैच नहीं खेल सके थे. ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि गेंदबाज के लिये फिट होकर वापसी करना बल्लेबाज की तुलना में मुश्किल होता है. गांगुली ने कहा ,”मुझे नहीं लगता कि ईशांत ने अपनी चोट छिपाई है. जब कोई खिलाड़ी घायल होता है तो उसे रिकवर करने के लिये समय देना होता है. माइकल क्लार्क फिट हो चुके हैं और वह ऐसा इसलिये कर सके क्योंकि वह बल्लेबाज है. यदि वह गेंदबाज होते तो फिट नहीं हो पाते. गेंदबाज और बल्लेबाज में फर्क होता है.” गांगुली ने उम्मीद जताई कि पाकिस्तान के खिलाफ पहले मुकाबले से पूर्व भारतीय टीम फॉर्म में लौट आयेगी. उन्होंने कहा ,”वे अच्छा प्रदर्शन करेंगे. टूर्नामेंट शुरू तो होने दीजिये .” विराट कोहली के बल्लेबाजी क्रम के बारे में उन्होंने कहा ,” टीम प्रबंध इस पर फैसला लेगा लेकिन उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिये कि विराट कम से कम 40 ओवर खेले. गांगुली ने इस बात से इनकार किया कि भारतीय टीम 2011 की तुलना में कम अनुभवी है . उन्होंने कहा ,” नये खिलाड़ी आते हैं और सीनियर चले जाते हैं . खेल में ऐसा ही होता है . इस टीम के पास धोनी और विराट के रूप में काफी अनुभव है . रोहित शर्मा ने भी 120 मैच खेले हैं .

Related Posts: