उत्सव की त्रिवेणी आज

सरस्वती जयंती और बसंत पंचमी आज

इक विद्या की देवी हैं तो इक हैं ऋतुराज

जन्म दिवस निराला काभी है इनके संग

हिन्दी कविता को मिला जिनसे नूतन रंग!

-अज़हर हाशमी