नयी दिल्ली,  कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश में रायबरेली में राष्ट्रीय ताप विद्युत निगम (एनटीपीसी) के एक संयंत्र में बाॅयलर फटने से मारे गये लोगों के परिजनों को सरकारी नौकरी तथा बेहतर मुआवजा देने की आज मांग की।

गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए अपने तीन दिन के प्रचार कार्यक्रम को बीच में छोड़कर पीड़ित परिवारों से मिलने रायबरेली पहुंचे श्री गांधी ने इस दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया। उन्होंने रायबरेली के फुर्सतगंज हवाई अड्डे पर अधिकारियों तथा उनके स्वागत के लिए मौजूद लोगों से हालात के बारे में जानकारी ली।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने बाद में ट्वीट कर कहा “एनटीपीसी घटना के पीड़ितों का दर्द देखकर बहुत दुःख हुआ। उनके परिवारों को बेहतर मुआवजा और सरकारी नौकरी व घायलों को हर संभव मदद मिलनी चाहिए।”
उन्होंने लिखा कि श्रमिकों की मांग है कि लापरवाही की वजह से हुई इस दुर्घटना की न्यायिक जांच होनी चाहिए और दोषियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

गौरतलब है कि एनटीपीसी के संयंत्र में कल बॉयलर फट गया था जिसके कारण 30 लोगों की मौत हो चुकी है और आठ अन्य की हालत नाजुक बनी हुई है। दुर्घटना में 100 से अधिक लोग गंभीर रूप से झुलस गये थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रत्येक मृतक परिवार को दो लाख रुपए और प्रत्येक घायल को 50 हजार रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी मृतकों के परिवार को दो-दो लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये की मदद देने की घोषणा की है। मामूली रूप से घायल को 25-25 हजार की मदद दी जाएगी।

Related Posts: