साइबर सेल पुलिस को मिली सफलता

नवभारत न्यूज भोपाल,

मध्यप्रदेश के नंबरों को गुजरात में अवैध तरीके से उपयोग कर रहे आरोपी को साइबर पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी अवैध रूप से नंबरों को पोर्ट कराकर उपयोग कर रहा था. शिकायतों के आधार पर साइबर पुलिस ने कमलेश को गिरफ्तार किया है. आरोपी ने अब तक आधा दर्जन से अधिक नंबरों को पोर्ट करा इस्तेमाल किया है.

साइबर पुलिस से मिली जानकारी अनुसार 43 वर्षीय कमेलश तिवारी पिता विश्वनाथ तिवारी गुजरात के वापी का रहने वाला है. आरोपी ने मप्र के नंबरों को गुजरात में पोर्ट कराकर इस्तेमाल कर रहा था. वह गुजरात में एयरटेल कंपनी से वीआईपी नंबरों के लालच में सिम खरीदता था और एक्टिवेट करवा लेता था.

जब लोगों को अपने मोबाइल नंबर चालू होने की जानकारी मिली तो उन्होंने कॉल सेंटर में मोबाइल नंबर बंद करने की शिकायत की, लेकिन जब बंद नहीं किए गए तो उन्होंने आरोपी से भी नंबर बंद करने का आग्रह किया, लेकिन कमलेश नहीं माना.

इसके बाद फरियादियों ने शिकायत साइबर पुलिस में दर्ज कराई थी. इसके बाद साइबर पुलिस ने जांच पड़ताल की. पुलिस ने आरोपी के द्वारा किए जा रहे फोन को ट्रेस कर टावर लोकेशन के साथ मोबाइल कंपनियों के काल डाटा एकत्रित कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

वीआईपी नंबर के लालच में खरीदी सिम

आरोपी ने एयरटेल कंपनी से वीआईपी नंबर खरीदे थे, जिन्हें उसने एक्टिवेट कराकर इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था. ये नंबर मध्यप्रदेश में रिलायंस कंपनी के थे, जिन्हें यहां पर इस्तेमाल किया जा चुका था. मोबाइल कंपनियों के विरूद्ध कार्रवाई को लेकर साइबर पुलिस ने टीआरएआई को पत्र लिखा है, क्योंकि इसमें बिना सहमति के सिमेें पोर्ट करने की जानकारी सामने आई है.

Related Posts: