लखनऊ,

देश भर में गरमायी दलित सियासत के बीच संविधान निर्माता और दलितों के मसीहा बाबा साहब भीमराव आंबेडकर की 127वीं जयंती आज राजधानी लखनऊ समेत समूचे उत्तर प्रदेश में धूमधाम के साथ मनायी जा रही है।

डा आंबेडकर की प्रतिमाओं के साथ हाल के दिनो में हुयी छेड़छाड़ की घटनाओं के मद्देनजर राज्य सरकार ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये हैं।

लखनऊ के हजरतगंज में स्थित आंबेडकर प्रतिमा पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने माल्यार्पण कर संविधान निर्माता को श्रद्धाजंलि अर्पित की वहीं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने डाॅ0 आंबेडकर को दलित और शोषित समुदाय का पितामह बताते हुये अनूसूचित जाति/जनजाति एवं पिछडों के लिये ताउम्र संघर्ष करने का संकल्प दोहराया।

डा आंबेडकर के जन्मोत्सव पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उनकी पार्टी दलितों के हितों की रक्षा के लिये कटिबद्ध है। डा आंबेडकर के आदर्शो को आत्मसात करके ही समाज का कल्याण संभव है। केन्द्र सरकार के दलित विरोधी रवैये का हर स्तर पर विरोध किया जायेगा।

Related Posts: