भोपाल,

शाहजहांनाबाद क्षेत्र के मॉडल ग्राउंड के पास विक्टर इंजीनियरिंग वर्क्स नाम से संचालित फार्म के संचालकों ने नई कंपनी बनाने और इस कंपनी में हिस्सेदारी देने के बहाने पांच लाख रुपए से लेकर दो करोड़ से अधिक की ठगी की है.

ठगी का शिकार हुए लोगों की संख्या 100 से अधिक है, जबकि ठगी की रकम करीब दस करोड़ से अधिक बताई जा रही है. जांच के बाद शाहजहांनाबाद पुलिस ने धोखाधड़ी, अमानत में ख्यानत और अपराधिक षड्यंत्र रचने का मामला दर्ज किया है.

पुलिस के मुताबिक फरियादी आमिर खान ने बताया कि वर्ष 2014 में विक्टर इंजीनियरिंग वकर््स के संचालक इकबाल अहमद और उनके छोटे भाई आफताब अहमद ने इस फर्म के साथ नई कंपनी खोलने का झांसा देकर 11 लाख रुपए ठगे हैं. आमिन ने अपना मकान बेचकर आरोपियों को पैसे दिए थे. इधर एक एनआरआई साजिद खान ने बताया कि विक्टर इंजीनियरिंग वक्स करीब चालीस साल पुरानी संस्था है.

मैं पहले से आरोपियों को जानता था, इस कारण उनके झांसे में आ गया. कंपनी में हिस्सेदारी देने के बहाने दोनों भाइयों ने मुझसे 2 करोड़ 30 लाख रुपए ठगे हैं. मैं सऊदी से पैसा भेजता था. पुलिस का कहना है कि अभी तक इन दोनों भाईयों द्वारा 10 करोड़ से अधिक की ठगी करने की जानकारी मिली है. एएसपी राजेश सिंह भदौरिया ने कहा कि मामला दर्ज कर दोनों भाईयों की तलाश की जा रही है.

Related Posts: