45 फीसद डिस्काउंट पर सामान देने के नाम पर लगाया चूना

  • ठगी के शिकार लोगों ने किया हंगामा

नवभारत न्यूजबेगमगंज, 5 फरवरी। नगर में तमिलनाडु की एक फर्म ने लोगों को बाजार भाव से 45 प्रतिशत कम दाम पर सामान देने का लालच देकर चार करोड़ रूपए की ठगी करने के बाद फर्म के कर्ताधर्ता रातों-रात रफू चक्कर हो गए।

बताया जाता है कि तमिलनाडु के राजेन्द्र प्रसाद रोड अलनगुड़ी ताल्लुका कीर मंगलम पुदक्कोटी निवासी शाहजहां पुत्र शेख इस्माईल ने अपने 6 साथियों के साथ करीब डेढ़ माह पूर्व पुराने बस स्टैंड स्थित सौभाग्य माल में दो दुकानें पगड़ी देकर किराए पर ली और संगम टे्रडर्स आर्डर सप्लायर के नाम से शोरूम डाला और प्रचार प्रसार करते हुए 18 जनवरी को उसका शुभारम्भ किया।

फर्म ने पम्पलेट व एनाउंस के जरिए लोगों को बाजार भाव से 45 प्रतिशत कम दाम पर ब्रांडेड कंपनियों का सामान नगद राशि लेकर आर्डर बुक करने 12 दिन बाद डिलेवरी देने का झांसा दिया और सस्ता सामान मिलने के लालच में लोग इस झांसे में आ गए।समय पर दी पहली डिलेवरीठगों ने वायदे के मुताबिक लोगों को सामान की पहली डिलेवरी निर्धारित 12 दिन बाद दी तो लोगों को भरोसा जम गया।

यह हैं ठगी गिरोह के सदस्य

शिकायत पर पुलिस ने की थी जांच गत 20 जनवरी को कुछ व्यापारियों की शिकायत पर पुलिस ने जब संगम टे्रडर्स का रिकार्ड चैक किया तो उसके टिन नंबर, सेल टेक्स नंबर, जीएसटी नंबर आदि सही पाए गए।

संगम टे्रडर्स का संचालन कर रहे 6 में से मौके पर मिले तीन लोगों शाहजहां पुत्र शेख इस्माईल आयु 52 वर्ष, चन्द्रन पुत्र कलियाप्पन आयु 60 वर्ष एवं शनमुगन्नाथन पुत्र नटराजन 50 वर्ष के आधार कार्ड, वोटर कार्ड, पासपोर्ट आदि का वेरीफिकेशन पुलिस द्वारा कीरमंगलम तमिलनाडु पुलिस से कराने पर भी तीनों की जानकारी सही पाई गई।

पुलिस की जांच में शाहजहां की पत्नी जाहिरा ने बताया कि उसका पति 6 माह से व्यवसाय के सिलसिले में मप्र में है। उनके मोबाइल नंबर भी सही पाए गए। इसके बाद पुलिस ने उन्हें छोड़ दिया और लोगों को यह हिदायत दी कि वह अपना एडवांस रूपया वापिस ले लें और जो भी खरीदारी करें वह नगद में करें लेकिन लोगों ने पुलिस की बात नहीं मानी।

सौभाग्य माल के तीनों गेट पुलिस ने किए सील

ठगी का शिकार हुए लोगों ने सोमवार को सौभाग्य माल पर जमकर हंगामा किया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को संभाला। पुलिस ने माल के तीनों गेटों को सील कर दिया है। पुलिस ने पुलिस की समझाईस के बाद ठगी का शिकार हुए लोग थाने रिपोर्ट करने पहुंचे। सोमवार को दिनभर इस मामले को लेकर थाने में लोग शिकायत दर्ज कराने पहुंचते रहे।

पुलिस का कहना है कि अभी यह बता पाना संभव नहीं है कि ठगी के कुल कितने लोग शिकार हुए हैं और कितने रूपए की ठगी हुई है।

Related Posts: