चीन के साथ शांतिपूर्ण और सहयोगी होना चाहिए संबंध

नई दिल्ली,

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सिंगापुर में एक कार्यक्रम के दौरान कश्मीर पॉलिसी का जिक्र करते हुए एनडीए सरकार पर निशाना साधा है.

गुरुवार को उन्होंने कहा कि डॉ. मनमोहन सिंह के कार्यकाल में हमारी कश्मीर पॉलिसी लोगों के साथ संबंधों को बढ़ाने की थी. राहुल गांधी ने कहा, यूपीए जब 2004 में सत्ता में आई, तो हमें ऐसा जम्मू और कश्मीर मिला जो जल रहा था. हमने एक प्लान बनाया और उस पर 9 साल तक काम किया. गौरतलब है कि राहुल गांधी तीन दिनों तक सिंगापुर और मलयेशिया के दौरे पर हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा कि 2014 में जब मैं जम्मू-कश्मीर गया तो मुझे काफी दुख हुआ. मैंने देखा कि कैसे एक खराब राजनीतिक फैसला बरसों की पॉलिसी-मेकिंग का बुरा हाल कर सकता है. उन्होंने चीन के साथ संबंधों पर भी बात की. सिंगापुर में राहुल गांधी ने कहा कि भारत का चीन के साथ शांतिपूर्ण और सहयोगी संबंध होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि मैं नहीं मानता कि भारत मैन्युफैक्चरिंग में चीन को चुनौती और प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकता है. इससे पहले राहुल गांधी सिंगापुर में आजाद हिंद फौज (INA) के स्मारक पर गए और नेताजी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि दी. आजाद हिंद फौज के‘ गुमनाम योद्धा’ की याद में बोस ने ही इस स्मारक का उद्घाटन किया था. यात्रा के दौरान वह दोनों देशों के प्रधानमंत्री से मिलने के साथ ही भारतीय समुदाय और कारोबारियों से भी मिलेंगे. उन्होंने ट्वीट कर यह जानकारी दी.

कांग्रेस अध्यक्ष ने गुरुवार को भारतीय उद्यमियों को संबोधित करने के साथ सिंगापुर की यात्रा शुरू की.कांग्रेस पार्टी ने एक बयान में कहा कि राहुल गांधी बेलेस्टियर रोड पर स्थित सिंगापुर इंडियन असोसिएशन पहुंचे. असोसिएशन क्लबहाउस की आधारशिला पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने रखी थी.

Related Posts: