आरोपियों पर लगेगी रासुका

कासगंज,

यूपी के कासगंज में गणतंत्र दिवस पर तिरंगा रैली के दौरान शुरू हुई हिंसा रविवार को जारी रही. रविवार सुबह उपद्रवियों ने कासगंज की एक दुकान में आग लगा दी थी.

इस मामले में अब तक 112 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इनमें 7 लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की गई है. दूसरी ओर मृतक चंदन का मुख्य आरोपी शकील अब भी फरार बताया जा रहा है. पुलिस आरोपी की तलाश के लिए कड़ी मशक्कत कर रही है. इस दौरान पुलिस ने शकील के घर की तलाशी ली, जहां देसी बम और पिस्टल मिले. पुलिस ने आसपास के लोगों से भी शकील के बारे में पूछताछ की.

हालांकि, यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बयान जारी कर कहा है कि फिलहाल कासगंज में स्थिति नियंत्रण में है. पिछले कुछ घंटों से कोई घटना सामने नहीं आई है. काफी संख्या में लोगों को गिरफ्तार किया गया है, पट्रोलिंग की जा रही है. इसी के साथ डीजीपी ने जिले में कानून-व्यवस्था बनाए रखने को लक्ष्य बताया है.

 

डीजीपी ने कहा कि लॉ ऐंड ऑर्डर बनाए रखने के लिए कोई भी कदम उठाया जा सकता है. इसी के तहत अभी राजनीतिक पार्टियों के नेताओं के दौरे पर अभी प्रतिबंध लगाया गया है.डीजीपी ने कहा कि आरोपियों और असामाजिक तत्वों को बख्शा नहीं जाएगा. उन पर रासुका लगाई जाएगी. अधिकारी गिरफ्तारियां कर रहे हैं. उधर योगी सरकार ने मृतक चंदन के परिजनों को 20 लाख मदद की घोषणा की है, जो सोमवार को दी जाएगी.

Related Posts: