नयी दिल्ली,

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस बार के बजट को किसानों,गरीबों और वंचित समाज और विकास के अनुकूल बताते हुए कहा है कि इससे भविष्य में भारत प्रगति की नयी ऊंचाइयों को छूएगा और लोगों के बेहतरी के लिए नयी दिशाएं तय करेगा।

श्री मोदी ने आज संसद में वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा वित्त वर्ष 2018-19 के लिए पेश आम बजट पर अपनी विस्तृत प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस बजट में सरकार ने किसानों,दलितों और आदिवासियों से लेकर महिलाओं और व्यापारियाें के लिए भी विशेष घोषणाएं की हैं। रोजगार को प्रोत्साहन देने तथा कर्मचारियों को सामाजिक सुरक्षा देने के लिए भी दूरगामी फैसले लिए हैं।

उन्हाेंने कहा कि इतना ही नहीं बल्कि किसानों के लिए उनके उत्पादाें के समर्थन मूल्य को भी डेढ़ गुना करने का फैसला किया गया है। बजट में पचास करोड़ गरीब लोगों को हर साल पांच लाख रूपए तक का अस्पताल खर्च देने की व्यवस्था करके दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य येाजना की शुरुआत की गयी है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बजट में कारोबारी सुगमता पर ध्यान केन्द्रित किया गया है और आम जनता के लिए सहज जीवन पर भी जोर दिया गया है। इसमें अवसंरचना विकास पर भी विशेष ध्यान दिया गया है।रेल,सड़क,पर्यटन और शिक्षा क्षेत्र के लिए भी काफी कुछ किया गया है।

उन्होंने कहा के देश के चार करोड़ गरीब परिवारों को मुफ्त बिजली देने के साथ ही उज्जवला योजना के तहत गरीब परिवारों को दिए जाने वाले रसोई गैस कनेक्शन की संख्या पांच करोड़ से बढ़ाकर आठ करोड़ करने का प्रस्ताव है। महिलाओं के स्वयं सहायता समूह के लिए आवंटित राशि भी बढ़ाने का प्रस्ताव है।

Related Posts: