ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किसान आक्रोश रैली को किया संबोधित

कोलारस,

जिस सरकार में किसान और जनता दोनों ही परेशान हो वह सरकार कभी जनहितैषी नहीं हो सकती, किसानों को भावांतर के नाम पर किस प्रकार से बरगलाया जा रहा है यह सब आसानी से देखा जा सकता है जीएसटी की मार से आमजन परेशान है, मूलभूत आवश्यकताओं के लिए किसान और जनता देानों की अपेक्षाओं पर सरकार खरी नहीं ऐसी सरकार को अब आने वाले समय में उखाड़ फेंकना है और वर्ष 2018 में पंजे को आगे लाकर जनता के बीच सरकार बनाना है।

उक्त उद्बोधन दिए पूर्व मंत्री एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जो स्थानीय पुरानी अनाज मण्डी कोलारस के मेला ग्राउण्ड में आयोजित किसान आक्रोश रैली के दौरान उपस्थित हजारों के जनसमुदाय को संबोधित कर रहे थे।

इसके पूर्व एक विशाल बाईक रैली नगर में सांसद सिंधिया के आगमन के साथ ही केपीएस स्कूल से श्ुारू हुई तो विभिन्न मार्गोँ से होते हुए आमसभा स्थल पहुंची। यहां सांसद सिंधिया का जोशीले अंदाज में स्थानीय कांग्रेसजनों जिसमें सांसद प्रतिनिधि बैजनाथ सिंह यादव, नपं अध्यक्ष रविन्द्र शिवहरे, महेन्द्र यादव आदि सहित अन्य कांग्रसेजनों द्वारा माल्यार्पण कर सांसद सिंधिया का भव्य स्वागत किया गया।

करीब 15 से 20 हजार किसानों से भरे हुए इस प्रांगण में सिंधिया ने हुकार भरी कि अब आने वाला समय किसान और जनता का है और जनता की सरकार कांगे्रस पार्टी है इसलिए संकल्प्ति हों कि वर्ष 2018 की शुरूआत इसी विधानसभा क्षेत्र कोलारस के उप-चुनाव के रूप में हो जिसमें सही अर्थोँ में स्व.दादा रामसिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की जा सके।

इस दौरान सांसद सिंधिया के इस उद्बोधन पर राजनैतिक गलियारों में खूब वाहवाही हुई और कई दावेदारों ने अपने चेहरे दिखाकर सांसद सिंधिया को अपनी ओर आकर्षित करने का प्रयास किया।

बैलगाड़ी से रैली में पहुंचे सिंधिया

पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया शुक्रवार को कोलारस कस्बे में आयोजित जन आक्रोश रैली में बैलगाड़ी पर सवार होकर पहुंचे।

इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से लेकर यूपी के सीएम योगी को कोसा। उन्होंने एमपी के सीएम शिवराज को ढोंगी बताते हुए कहा कि अब आने वाले समय में कोलारस में पूरी सरकार नजर आएगी, क्योंकि यहां चुनाव जो होना है।

इसके बाद उन्होंने मंच से भाजपा की हर सरकार को जमकर कोसा। पीएम मोदी को लेकर सिंधिया ने कहा कि नोट बंदी और गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) को लेकर किसान परेशान है। कई लोगों की नौकरियां चली गई हैं।

वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर में हुई बच्चों की मौत का जिम्मेदार बताते हुए सीएम शिवराज सिंह को ढोंगी करार दिया। -सिंधिया का कहना था कि छोटे-छोटे गांवों में शराब की एक नहीं दो-दो दुकानें खोल दी हैं। ऐसे में क्राइम नहीं होगा तो क्या होगा।

-उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसान परेशान है। प्याज खरीदी एमपी सरकार ने की, लेकिन किसानों को दाम नहीं मिले। व्यापारियों ने कम दामों में खरीदकर ज्यादा भाव में बेची। इसी प्रकार भावांतर योजना का लाभ भी किसानों को नहीं मिल पा रहा है।

-उन्होंने कोलारस के लोगों से कहा कि आने वाली जनवरी में कोलारस विधानसभा का चुनाव होगा। सरकार का हर मंत्री ही नहीं, बल्कि पूरी सरकार यहां होगी। योजनाओं की घोषणा करेगी। ऐसे लोगों से सावधान रहना है।

Related Posts: