गर्म तंदूर कमरे में रखा होने से घुटन से मौत होने की आशंका

नवभारत न्यूज
मुरैना/सबलगढ़,

कस्बा सबलगढ़ के मण्डी संतर नंबर 3 स्थित एक कैटरिंग गोदाम में सो रहे तीन नाबालिग मजदूर मृत अवस्था में मिले. तीनों देर रात को शादी में काम करने के बाद गोदाम पर आकर सो गए थे. कमरे में ही गर्म तंदूर रखे हुए थे. ऑक्सीजन के कॉर्बन मोनोऑक्साईड में परिवर्तित होने से दम घुटने के कारण उनकी मौत होना बताया जा रहा है.

हलवाई एवं कैटर्स सुरेश उर्फ नौरंगी यादव का संतर-3 स्थित राकेश पाराशर के मकान में गोदाम है. सोमवार की रात अलीपुरा गांव में दावत खत्म करने के बाद मजदूर शिवम पुत्र रामरूप जाटव 14, सचिन पुत्र सियाराम जाटव 15, अजीत पुत्र लाखन जाटव 17 निवासी देवपुर माफी और विकास पुत्र लछिया कुशवाह 22 निवासी नाऊडांढ़ा कैटरिंग का सामान लेकर देर रात को गोदाम पहुंचें.

सामान के साथ उन्होंने पानी छिड़ककर तंदूर भी कमरे में रख दिए. इसी कमरे में शिवम, सचिन और अजीत एक पलंग पर सो गए, जबकि विकास जमीन पर सो रहा था.

मंगलवार की सुबह कैटर्स सुरेश उर्फ नौरंगी यादव गोदाम पर पहुंचा, विकास ने कुंदी खोली और पलंग पर सो रहे तीनों नाबालिगों को जगाने की कोशिश की, लेकिन वे तीनों मृत मिले. जिसके बाद पुलिस को इत्तिला दी गई.

मुरैना से एफएसएल टीम के पहुंचनें के बाद तीनों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेजे गए. प्रांरभिक जांच के दौरान उनकी मौत की वजह दम घुटने से होना बताई जा रही है. खबर लिखे जाने तक पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया था.

 

Related Posts:

शेरों के लिए सुरक्षित है कूनो
अल्लाह के संदेशों को जन-जन तक पहुंचाने सात हजार किमी की पैदल हज यात्रा
उज्जैन दर्शन कर लौट रहे दूल्हा-दुल्हन समेत सात लोगों की सडक हादसे में दर्दनाक मौ...
सिंहस्थ में आंधी तूफान: कांग्रेस ने की 15 लाख सहायता देने की मांग
इंदौर के अति विशिष्ठ क्षेत्र स्थित बीसीएम हाइट़स भवन में आग
शंकराचार्य ने देश को एकता के सूत्र में बांधा : शिवराज