सिटी अस्पताल का मालिक हुआ शिकार

  • पत्थर खदान दिलाने का दिया था लालच

भोपाल,

कोलार इलाके में 14 जालसाजों ने मिलकर सिटी अस्पताल के मालिक सब्यसांची गुप्ता को 2.61 करोड़ रूपये की चपत लगा दी. आरोपियों ने यह रकम फरियादी से एक पत्थर खदान दिलवाने के नाम पर ली थी.

फरियादी डाक्टर को विश्वास में लेने के लिए आरोपियों ने सांई कापोरेशन इंडिया प्राइवेट लिमीटेड कंपनी में डायरेक्टर बना दिया था और पत्थर खदान की लीज कराने के लिए एक जमीन भी दिखाई थी.

रकम एंठने के बाद बदमाशों ने उनको डायरेक्टर पद से भी हटा दिया. बाद में डाक्टर को पता चला की पत्थर खदान के लिए उनको जो जमीन दिखाई गई थी वह भी किसी अन्य व्यक्ति की है, जो दिल्ली में रहता है. इसके बाद मामले की शिकायत एसपी साउथ से की गई थी.

एसपी साउथ राहुल कुमार लोढ़ा के आदेश पर रविवार सुबह इस मामले में धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया है. एसआई अनिल शर्मा के अनुसार सब्यसांची गुप्ता (50) गौतम नगर गोविंदपुरा के रहने वाले हैं. वह सिटी अस्पताल के संचालक हैं, उन्होंने पुलिस को बताया कि आरोपी केपी सिंह से उनका परिचय था. जिसने उन्हें बताया कि वह सांई कार्पोरेेशन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड नाम से एक कंपनी संचालित करता है.

कंपनी में पैसा इन्वेस्ट करने पर वह अच्छा बिजनेस कर सकते हैं. आरोपी ने रकम देने के एवज में एक पत्थर खदान दिलाने का वादा किया था. आरोपी की बातों में आकर वर्ष 2012 से 2014 के बीच डाक्टर गुप्ता ने केपी सिंह की फर्म में 2.61 करोड़ रूपये लगा दिये. डाक्टर को डायरेक्टर भी बनाया गया था.

इसी के साथ उन्हे पत्थर खदान लगाने के लिए एक जमीन भी दिखा दी थी. इस धोखाधड़ी में आरोपी के परिवार सहित उसके साथी भी शामिल थे.शिकायत पर पुलिस ने आरोपी केपी सिंह, उसकी पत्नी सुनीता सिंह, बेटी शिवानी सिंह बेटा रिंकु सिंह, साथी गजेंद्र कुमार अग्रवाल, सावित्री साहू, अरविंद, रिंकू यादव, नवेद, विश्वनाथ साहू, इरशाद खान व अतर खान के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है.

Related Posts: