ओंकारेश्वर.

दो दिन पहले कांग्रेस का जुलूस था। इसमें कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अरूण यादव व विधायक सचिन यादव के नेतृत्व में बड़ी संख्या में ओरिजनल मतदाता दिखे थे। भाजपा प्रत्याशी के मुकाबले कांग्रेस ने व्यवहारिक दौलत सिंह परिहार को सरलता व सज्जनता के कारण टिकिट दिया। वहीं पार्टीगत व सत्ता में बीजेपी है।

नंदू भैय्या जैसे मुख्यमंत्री के बराबर के पदाधिकारी इस छोटे चुनाव में घुटनों के बल ही नहीं चले। बाकी मतदाताओं के कोहनी तक हाथ जोड़े। इतना तो नंदू भैय्या ने खुद के लोकसभा चुनाव में भी ओंकारेश्वर के लोगों व मतदाताओं के आगे नहीं झुके थे। भाजपा का केंडीडेट चयन में जो कथित गलतियां विधायक लोकेंद्रसिंह तोमर ने की है। उस पर नंदकुमार भी बंद कमरे में विधायक से नाराज दिखे थे।

Related Posts: