पुलिस ने एक आरोपी को लिया हिरासत में

नवभारत न्यूज भोपाल,

सोने का बिस्किट बेचने की कोशिश कर रहे युवक को क्राइम ब्रांच के फर्जी अधिकारियों ने रंगे हाथों पकड़ लिया. इन अधिकारियों ने बाद में मामले को रफा-दफा करने के लिए युवक की बुलेट भी अपने नाम करा ली.

युवक की शिकायत पर जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि फरियादी के दोस्त ने ही साजिश रची थी. पुलिस ने फरियादी के दोस्त ईबाद खान को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने उसे दो दिन की रिमांड पर लिया है.

तलैया थाना प्रभारी मनीष राज भदौरिया के मुताबिक मोहम्मद रिहान पिता मोहम्मद बिलाल उम्र 25 वर्ष आमवाली मस्जिद के पास नक्काखाने में रहता है. उसके पास 50 ग्राम का सोने का बिस्किट था, जिसे वह जरूरत होने पर बेचना चाहता था. उसने यह बात अपने दोस्त ईबाद खान को बताई, इस पर ईबाद ने कहा कि वह जल्द बिचवा देगा.

इसके बाद ईबाद के दिमाग ने अपने दोस्त को ठगने का प्लान हुआ तो उसने गोलू व दो अन्य दोस्तों के साथ मिलकर योजना बनाई. विगत 7 मार्च को ईबाद ने रिहान से कहा कि उसका एक दोस्त बिस्किट खरीदने को तैयार है. दोनों लोग बिस्किट बेचने के लिए सरस्वती प्रकाशन के पास पहुंचे. यहां पर उन्हें बिस्किट खरीदने के लिए गोलू मिला. बिस्किट की सौदे की बात चल रही थी कि तभी दो व्यक्ति वहां पर आ गए.

इन्होंने अपने आप को क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताया और रिहान से कहा कि स्मगलिंग का माल बेचते हो. इसके बाद वहां से मौका पाकर ईबाद सोने का बिस्किट लेकर चला गया. कुछ समय बाद गोलू ने रिहान को बताया कि पुलिस ने ईबाद को पकड़ लिया है, अगर तुम मामले को रफा-दफा करना चाहते हो तो बुलेट दे दो.

इसके साथ ही उन्होंने बुलेट ली तथा डेढ़ लाख का उधारी का अनुबंध भी लिखा लिया. संदेह होन पर रिहान ने पुलिस में शिकायत की. पुलिस ने जांच की तो सामने आया कि उसके साथ दोस्तों ने ही धोखाधड़ी की है. पुलिस ने एक आरोपी ईबाद को गिरफ्तार कर लिया है, जिसे दो दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है.

Related Posts: