भोपाल,

मध्यप्रदेश के मुरैना जिले में खनन माफिया सक्रिय हो चला है. एक बार फिर माफियाओं ने रेत का अवैध परिवहन रोकने के लिए तैनात अमले पर ना सिर्फ फायरिंग की बल्कि पथराव भी किया. हैरानी की बात तो ये है कि शिकायत मिलने के 5 घंटे बाद भी वन विभाग के अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे . हमले के बाद से ही तैनात अधिकारियों में दहशत का माहौल है.

मिली जानकारी के अनुसार, बीती रात नेशनल हाइवे नंबर तीन पर बनी वन जांच चौकी पर फोरेस्टर सूबेदार सिंह कुशवाह अपने दो साथियों के साथ ड्यूटी कर रहे थे. तभी उन्हें चम्बल नदी की ओर से पच्चीस से तीस रेत के भरे ट्रेक्टर आते दिखाई दिए.

तभी योजना बनाते हुए अधिकारियों ने उन्हें रोकने के लिए सडक़ पर नुकीली प्लेट्स डाल दी, जैसे ही ट्रैक्टर वन चौकी के पास पहुंचा उन्होंने सडक़ पर पड़े प्लेट्स उठाकर ट्रॉली में डालने शुरू कर दिए. तभी सूबेदार ने रोकने की कोशिश की तो माफियाओं ने उन पर कट्टे से फायरिंग करना शुरु कर दिया.

जब तक वहां मौजूद अमला कुछ समझ पाता मफियाओं ने पथराव भी शुरू कर दिया. सभी ने जैसे तैसे करके अपनी जान बचाई और विभाग को खबर दी. लेकिन घटना के पांच घंटे बीते जाने के बाद भी वहां कोई अधिकारी नहीं पहुंचा.

Related Posts: