पोर्ट एलिज़ाबेथ,

भारतीय क्रिकेट टीम अपनी गलतियों से पिछला मैच हारी जिससे मेज़बान दक्षिण अफ्रीका को वापसी का मौका मिल गया, लेकिन मंगलवार को पांचवें वनडे में उसके पास सबक लेते हुये सीरीज़ पर कब्ज़ा सुनिश्चित करने का फिर से अवसर रहेगा।

भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका की ज़मीन पर अपना आखिरी टेस्ट और छह मैचों की सीरीज़ के शुरूआती तीनों वनडे जीतने के बाद बेहतरीन लय में दिखाई दे रही थी लेकिन ‘गुलाबी जर्सी’ में अफ्रीकी टीम कमाल कर गयी और उसने 3-1 के साथ वापसी का संकेत दे दिया।

हालांकि कप्तान विराट कोहली की टीम के पास 25 वर्षाें में दक्षिण अफ्रीकी जमीन पर अपनी पहली सीरीज़ जीतकर इतिहास रचने के अभी दो मौके हैं, लेकिन बेहतर होगा कि टीम यह काम पोर्ट एलिजाबेथ में निपटा ले।

जोहानसबर्ग में भारतीय फील्डरों ने वर्षा प्रभावित मैच में कई कैच टपकाये, नो बॉल उसके लिये जी का जंजाल बन गयी तो पिछले तीन मैचों के हीरो कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की स्टार स्पिन जोड़ी ने मिलकर 11.3 ओवर की गेंदबाज़ी में 119 रन लुटा दिये।

विराट इस प्रदर्शन से इतने खफा दिये कि उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि भारत इस मैच में जीत का हकदार नहीं था।एक बात साफ है कि टीम अपनी गलतियों और कमियों को जानती है, और उसकी कोशिश इसे दोहराने से बचने की होगी।

Related Posts: